जलदाय विभाग की अनदेखी से शहर में जगह-जगह हो रहे लीकेज से सैंकड़ों लीटर पानी व्यर्थ हो रहा बर्बाद

जलापूर्ति के समय लीकेज प्वाइंट से पानी की पिचकारियां छूट रही है, इस कारण प्रतिदिन अमूल्य नीर व्यर्थ बह रहा है।

 

By: pawan sharma

Published: 13 Mar 2018, 10:27 AM IST

देवली. शहर में विभिन्न स्थानों पर लीकेज हो रही पेयजल लाइनों से प्रतिदिन कई सैंकड़ों लीटर पानी व्यर्थ बर्बाद हो रहा है। जलापूर्ति के समय लीकेज प्वाइंट से पानी की पिचकारियां छूट रही है, लेकिन शिकायत के बावजूद विभागीय कर्मचारी इसकी अनदेखी कर रहे हैं। लिहाजा प्रतिदिन अमूल्य नीर व्यर्थ बह रहा है। उक्त लापरवाही का प्रमाण शहर के कोटा रोड पर देखा जा सकता है।

 

 

जहां राजभंवर होटल के सामने एजेंसी मार्ग के घुमाव पर पानी बेकार बह रहा है। क्षेत्रवासियों ने बताया कि यह पेयजल लाइन कोटा रोड स्थित जल संग्रहण टंकी को जोड़ रही है। जहां सप्लाई के दौरान पानी बहकर सडक़ पर बह रहा है। लगातार पानी निकलने से वहां गड्ढा व कीचड़ हो गया है। वहीं पानी बहकर सडक़ पर फैलने से सडक़ क्षतिग्रस्त हो रही है।

 

 

इससे असुविधा के साथ पानी की बर्बादी हो रही है। लोगों ने इसकी शिकायत जलदाय विभाग के कर्मचारियों से की, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ। इसी प्रकार वार्ड 19 कोटा रोड से मस्जिद वाली गली में पाइप लाइप टूट रही है। इसके चलते भूमिगत लाइन से पानी बहकर ऊपर आ रहा है।

 

 

इसके चलते शाम को होने वाली जलापूर्ति के समय दर्जनों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है, लेकिन जिम्मेदारों का इस ओर ध्यान नहीं है। इधर, शहर में एजेंसी तिराहे से जहाजपुर चुंगी नाका तक बना गौरव पथ मार्ग पर भी पानी व्यर्थ बह रहा है। यहां गणेशम के सामने सीसी सडक़ से प्रतिदिन पानी के फव्वारें छूट रहे हैं। वहीं पानी बहकर सडक़ पर फैल रहा है।

 

 

इससे सडक़ क्षतिग्रस्त होने के साथ पानी की बर्बादी भी हो रही है। लोगों का कहना है कि आगामी माह में शुरू होने वाली गर्मी में यदि अभी से पानी को सहेजा जाए तो, होने वाली पानी की बचत से लोगों को लाभ होगा।

 

 


कर्मचारियों की गश्त जरूरी
लोगों का कहना है कि जलदाय विभाग को पानी की बचत करने को लेकर योजना तैयार करनी चाहिए। शहर के किसी भी स्थान पर लीकेज होने पर नियंत्रण कक्ष नम्बर होने चाहिए। जिससे कि आमजन लीकेज की विभागीय कर्मचारियों को समय पर जानकारी दे सके।वहीं विभागीय कर्मचारियों व लाइनमैन को शहर में गश्त कर लीकेज बिन्दुओं की सार-संभाल करना चाहिए। इससे पानी की निश्चित तौर पर बचत होगी।

 

 

 

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned