प्रतीकात्मक हुआ रावण दहन, परम्परा का किया निर्वाहन

प्रतीकात्मक हुआ रावण दहन, परम्परा का किया निर्वाहन

 

By: pawan sharma

Published: 25 Oct 2020, 07:49 PM IST

टोंक. कोरोना महामारी के चलते इस बार विजयादशमी पर जिला मुख्यालय पर दशहरा मैदान स्टेडियम के पास हॉट बाजार में रावण, कुंभकरण व मेघनाथ के पुतलों का एवं गांधी खेल मैदान में रावण के पुतले का रविवार को बिना आतिशबाजी व बिना आमजन की मौजूदगी में प्रशासन व पुलिस अधिकारियों नें परंपरा को निभाते हुए रावण दहन कार्यक्रम प्रतीकात्मक रुप से सम्पन्न कराया।


इस बार रावण दहन के समय किसी भी प्रकार आतिशबाजी नही की गई और ना ही आम नागरिकंो को रावण दहन के कार्यक्रम में सम्मिलित होने की अनुमति मिली। आम नागरिकों के प्रवेश को रोकने के लिए हाटबाज़ार में बेरिकेटिंग कर पुलिस जाप्ता तैनात किया गया।

रविवार शाम को रामए लक्ष्मण और हनुमान के साथ अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी के साथ पर्याप्त मात्रा में पुलिस सुरक्षा बल भी मोजूदगी रावण दहन का कार्यक्रम हुआ और सत्य की असत्य पर जीत का प्रतीक के त्यौहार पर रावण, कुंभकरण के पुतलों को बिना आतिशबाजी के साथ घांस-पुस के साथ जलाया गया।

वही श्री सेठ रामगौपाल माँगी लाल धर्माथ ट्रस्ट श्रीराम कृष्ण मन्दिर द्वारा प्रतिवर्ष गांधी खेल मैदान पर मनाया जाने वाला दशहरा पर्व इस वर्ष प्रतीकात्मक रावण दहन हुआ। ट्रस्ट अध्यक्ष राजेन्द्र अग्रवाल एवं ट्रस्ट मन्त्री राजीव बंसल ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण के चलते सार्वजनिक एवं समारोह पूर्वक नही मनाया गया और गांधी खेल मैदान टोंक में बुराई पर अच्छाई का प्रतीक दशहरा पर्व पर बिना आतिशबाजी के 20 फीट के रावण का दहन किया किया गया।

इस अवसर पर जिला कलक्टर गोरव अग्रवाल, नगर परिषद सभापति अली अहमद, उपखण्ड अधिकारी नित्या के, पुलिस उपाधिक्षक चन्द्रसिंह रावत, नगरपरिषद कमिश्नर सचिन यादव , पुरानी टोंक थानाधिकारी त्रिलोक चन्द, शैलेन्द्र शर्मा , विकास विजय, मिथलेश गर्ग सहित प्रशानिक व नगर परिषद के अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned