शिक्षक एक सेतु के रूप में होता है

टोंक. राजकीय महाविद्यालय के अंग्रेजी विभाग में चल रहे शिक्षक विषय संवर्धन दक्षता प्रशिक्षण ज्ञानगंगा में बुधवार को आयोजन सचिव डॉ. महेश कुमावत ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। आयोजन समन्वयक डॉ. एस. आशा ने प्रतिभागियों से फीडबैक एवं आपसी संवाद से कार्यक्रम शुरू किया।

By: jalaluddin khan

Published: 03 Mar 2021, 09:38 PM IST

शिक्षक एक सेतु के रूप में होता है
टोंक. राजकीय महाविद्यालय के अंग्रेजी विभाग में चल रहे शिक्षक विषय संवर्धन दक्षता प्रशिक्षण ज्ञानगंगा में बुधवार को आयोजन सचिव डॉ. महेश कुमावत ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। आयोजन समन्वयक डॉ. एस. आशा ने प्रतिभागियों से फीडबैक एवं आपसी संवाद से कार्यक्रम शुरू किया।

महाविद्यालय प्राचार्य प्रो. अशोक कुमार सामरिया ने कहा कि ऐसे प्रशिक्षण कार्यक्रम बहु उपयोगी होते हैं। इनसे महाविद्यालय शिक्षकों को बहुत कुछ नया सीखने को मिलता है।

प्रथम सत्र में डॉ. नंदा ने बताया कि ज्ञान अर्जन करने एवं ज्ञान प्रदान करने के बीच अंतराल को भरने के उद्देश्य से शिक्षक एक सेतु के रूप में होता है।

दूसरे सत्र में डॉ. संजय अरोड़ा ने संवाद कौषल में हास्य विनोद की प्रभावी भूमिका पर प्रकाश डाला और कहा कि कोई भी साधारण पाठक या श्रोता वक्ता द्वारा कही गई गम्भीर बातों को कुछ समय तक तो सुन सकता है, लेकिन यदि उनमें हास्य व विनोद का पुट भी विद्यमान हो तो लम्बे समय तक वार्ता का आनन्द लिया जा सकता है।

डॉ. वन्दना चक्रवर्ती के वार्तालाप और बातचीत के सन्दर्भ में संवाद कौषल की चर्चा की। अन्त में आयोजन सह समन्वयक डॉ. यासमीन फातमा ने प्रतिभागियों की शंकाओं का समाधान किया। डॉ. सूलोचना मीना ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

खिलाडिय़ों ने जीते कई पदक
टोंक. राजस्थान तलवार संघ की ओर से जयपुर में हुई प्रतियोगिता में टोंक जिले के खिलाडिय़ों ने कई पदक जीते हैं।

अध्यक्ष विष्णु शर्मा ने बताया कि बालक जूनियर वर्ग में जिले के शफीक अहमद ने कांस्य, बालिका जूनियर में रोशन आरा ने स्वर्ण पदक, सबा परवीन ने कांस्य पदक, बालिका सीनियर वर्ग में हिना खातून और मुस्कान बानो ने कांस्य पदक जीता है।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned