खुशखबरी!! खत्म हुआ इंतजार... लौट रही हैं तारक मेहता का उल्टा चश्मा की दयाबेन
Riya Jain
Publish: Jan, 13 2018 11:40:50 (IST)
खुशखबरी!! खत्म हुआ इंतजार... लौट रही हैं तारक मेहता का उल्टा चश्मा की दयाबेन
tarak mehta ka ooltah chashmah

एक बार फिर आप लोगों को हसांने के लिए लौट रही हैं तारक मेहता का उल्टा चश्मा की दयाबेन...तारीख जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर...

टीआरपी में पहले स्थान पर रहने वाला शो तारक मेहता अब एक बार फिर ट्रेक पर अाने वाला है। अब सीरियल की जान जो लौट रही है। बता दें सब टीवी पर आने वाले सीरियल 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में काफी टाइम से गायब दया भाभी फिर से शो में एंट्री करने वाली हैं।


जी हां, खबर है कि दयाबेन यानि मार्च से शो में नजर आएंगी। बता दें कि उन्होंने 2017 नंवबर में बेटी को जन्म दिया था और वे शो में वापसी करने जा रही हैं। मार्च तक उनकी बेटी 4 महीने की हो जाएगी, यही कारण है कि अब एक बार फिर अपने किरदार में लौट रही हैं।

दिशा वकानी ने सितंबर में लास्ट एपिसोड की शूटिंग की थी। कहा तो ये भी जा रहा था कि अब दिशा वापस शो में नहीं लौटेंगी लेकिन सारी अफवाहों को झूठा साबित कर एक बार फिर दिशा दयाबेन बन लोगों को हसांने आ रही हैं।


कुछ वक्त पहले दिशा ने सुर्खियां तब बटोरी थी जब उनके घर में गोदभराई का जश्न मनाया गया था।इस महोत्सव में पूरे रीति रिवाजों के साथ गोदभराई की रस्में निभाई गई। लेकिन इस फंक्शन में दिशा अपने कपड़ों और खूबसूरती से सारी लाइमलाइट ले गईं।


गोदभराई के फंक्शन में उनके शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा की टीम से कई दोस्त भी फंक्शन में शामिल हुए। बता दें दिशा इस साल दिसंबर में खुशखबरी सुना सकती हैं।दिशा के इस फंक्शन में उनके परिवार वाले भी झूमते गाते नजर आए। मिली जानकारी के अनुसार दिशा वकानी की गोदभराई की रस्म दो दिनों तक चली। पहले दिन सांझी सेरिमनी हुई, दूसरे दिन श्रीमंत हुआ।


बता दें दिशा वकानी ने 24 नवंबर 2015 को अकाउंटेंट मयूर पांड्या से शादी की थी। इसके अलावा अगर सीरियल की बात की जाए तो कुछ दिन पहले ही तारक मेहता का उल्टा चश्मा विवादों का शिकार हुआ था। खबर आ रही थी की शो बंद हो सकता है।

दरअसल शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा अपने एक एपिसोड को एक सीन की वजह से विवादों में फंस गया था। इस सीन की वजह से लोग शो के बैन कराने की मांग कर रहे थे। हुआ ये था की शो के एक एपिसोड में गणपति पूजा हुई थी जिसमें कहा जा रहा है की एक एक्टर सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह के रुप में नजर आए। इसे देखकर सिख समुदाय में गुस्से की लहर दौड़ गई क्योंकि सिखों की ये मान्यता है की कोई भी इंसान गुरू के जीवित स्वरूप को धारण नहीं कर सकता। ये सिखों की धार्मिक नीयमों के खिलाफ है।