60 दिन में तडक़ गई 60 लाख की सडक़... सवालों के घेरे में आया ये गौरवपथ

60 दिन में तडक़ गई 60 लाख की सडक़...  सवालों के घेरे में आया ये गौरवपथ

bhupendra sarwar | Updated: 30 Nov 2017, 05:50:23 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

झल्लारा के शेषपुर पंचायत मुख्यालय पर गांव के प्रवेश द्वार से पंचायत भवन तक गौरव पथ बनवाया गया था। इस पर 60 लाख खर्च हुए थे, 60 दिन में उखड़ गई सड़क

झल्लारा. शेषपुर में बना गौरव पथ सवालों के घेरे में है। करीब 60 लाख रुपए लागत की इस सडक़ पर 60 दिन में ही दरारें आने लगी हैं। झल्लारा पंचायत समिति के शेषपुर पंचायत मुख्यालय पर गांव के प्रवेश द्वार से पंचायत भवन तक गौरव पथ बनवाया गया था। इस काम पर 60 लाख की लागत आई थी। निर्माण के बाद ठेकेदार की ओर से पानी की तराई के बहाने सडक़ को मिट्टी से पाट दिया गया। करीब एक माह तक सडक़ इसी तरह कवर रही, लेकिन जैसे ही मिट्टी को हटाया गया तो सडक़ पर जगह-जगह दरारें दिखने लगी हैं। वही सार्वजनिक निर्माण विभाग की पूर्व में बनी सडक़ शेषपुर से धोलागिर खेड़ा मुख्य मार्ग पर यह काम किया गया है।

बता दें कि पूर्व सरकार की ओर से पांच साल पहले ही करीब 40 लाख रुपए की लागत से मेघवाल बस्ती व आंगनबाड़ी तक दो टुकड़ों में सडक़ का निर्माण किया गया था। क्षेत्रवासियों का कहना है कि इस सडक़ की हालत अच्छी होने के बावजूद विभाग ने अपनी ही बनाई सडक़ पर गौरव पथ बनवा डाला। यही खर्च किसी और जगह किया जाता तो नए काम का लाभ तो होता ही, लोगों के लिए सुविधा भी बढ़ती है। सडक़ के ऊपर सडक़ बनाने से पहले मोरम या मिट्टी तक नहीं डाली गई थी।

 

READ MORE: कांग्रेस नेता के इस वजह से हुए 10 वाहन जब्त, नीलामी से इतने लाख रुपए का राजस्व वसूला

 

प्रदेश में करोड़ों की है यह योजना
राजस्थान ग्रामीण गौरव पथ योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में प्रमुख सडक़ निर्माण करना है। सरकार ने प्रदेश के सभी जिलों में पंचायत मुख्यालयों पर सडक़ों का निर्माण करना तय किया है। पहले चरण में 1972 पंचायतों में 1720 किमी और दूसरे चरण में 2086 पंचायतों में 2098 किलोमीटर सडक़ों के निर्माण की योजना है। पक्की सडक़ों का एक और मकसद हर पंचायत मुख्यालय पर कंक्रीट सडक़ और उचित जल निकासी की व्यवस्था करना भी है ताकि ग्रामीणों को इनसे जुड़ी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़े। सरकार ने ग्रामीण गौरव पथ कार्यक्रम के लिए एक हजार 115 करोड़ रुपए की मंजूरी दी है।


पता नहीं है, अफसरों से बात करूंगा
मुझे सडक़ में दरार की कोई जानकारी नही है। आपने बताया, तब जानकारी मिली है। अगर ऐसी कोई समस्या है तो अधिकारियों से बात करूंगा।
गौतमलाल मीणा, विधायक, धरियावद


ठेकेदार से वापस करवाएंगे काम
शेषपुर में अगर सडक़ टूट गई है या दरारें आई हैं तो एक-दो दिन में निरीक्षण कर लेंगे। ऐसा कुछ हुआ होगा तो ठेकेदार से बातकर वापस मरम्मत करवा लेंगे।
शांतिलाल, अधिशासी अभियंता, पीडब्ल्यूडी, सलूंबर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned