उदयपुर में मिले युवक के शव से फैली सनसनी, यहां का रहने वाला था युवक

उदयपुर में मिले युवक के शव से फैली सनसनी, यहां का रहने वाला था युवक

jyoti Jain | Updated: 28 Nov 2017, 11:24:22 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

उदयपुर. शहर में हर रोज हत्या की वारदातें बढ़ रही है।

उदयपुर . शहर में हर रोज हत्या की वारदातें बढ़ रही है। समझ नहीं आ रहा कि शहर में हो क्या रहा है। हर सुबह किसी हत्या की खबर के साथ हो रही है। हत्या का एक मामला हाल ही सुखेर थाना क्षेत्र में सामने आया है। यहां युवक की किसी ने बेरहमी से हत्या कर दी। युवक का शव होटल भैरव गढ़ के निकट निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज परिसर में मिला है। युवक की पहचान छोटी भोईवाड़ा निवासी विनोद माली के रूप में हुई है। पुलिस ने परिजनों को मौके पर बुलाकर शव की शिनाख्त की है।

 

 

dead body found in sukher udaipur

 

पुलिस ने बताया कि छोटी भोईवाड़ा निवासी विनोद माली का शव सुबह मेडिकल कॉलेज परिसर में मिला। सुबह यहां से गुजरने वाले लोगों ने शव देखकर पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर शव की जेब से मिले कागजों के आधार पर परिजनों को सूचित किया। परिजनों ने ही शव की शिनाख्त भी की।

 

फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। उसके बाद ही मौत के कारणों का सुराग लग पाएगा। फिलहाल पुलिस ने अपनी जांच शुरू कर दी है साथ ही मौके पर मौजूद लोगों से भी पूछताछ जारी है। मौके पर कई जगह खून भी बिखरा हुआ मिला है।

 

dead body found in sukher udaipur

 

एफएसएल टीम को भी मौके पर बुलाया गया है।

 

 

READ ALSO:

उदयपुर . एटीएम कार्ड चोरी, हैक या अन्य तरह की धोखाधड़ी कर उचक्के मालामाल हो रहे हैं, वहीं बैंक व पुलिस प्रशासन बेपरवाह बने हुए हैं। अधिकतर मामलों में बैंक में तकनीकी खामी सामने आ रही है लेकिन बैंक पुलिस पर मामला डाल कर कोई कार्रवाई नहीं रहे है।
हालांकि आरबीआई का स्पष्ट नियम है कि तकनीकी खामी पर बैंक ही पूरी तरह से जिम्मेदार है, इसमें ग्राहक का दायित्व जीरो है। बैंक को वारदात होते ही अपने इंटरनल ऑडिटर सूचना देनी होती है ताकि ऐसे मामलों में तफ्तीश कर उन्हें रोकथाम पर काम किया जा सके लेकिन बैंक की लापरवाही के कारण यह मामले दिनोंदिन बढ़ते ही जा रहे हैं। इधर, पुलिस धोखाधड़ी के इन मामलों में महज परिवाद व प्राथमिकी दर्ज करने तक सीमित हो गई।
अम्बामाता थाना पुलिस ने हाल ही एन्थ्रोपॉलोजिकल सर्वे ऑफ इंडिया से सेवानिवृत्त हुए वृद्ध दम्पती नंदाविला निवासी दिलीप नंदा व उनकी पत्नी मन्दिरा के साथ धोखाधड़ी के मामले में आरबीआई के नियमों का हवाला देते हुए कुछ जानकारी मांगी तो उन्होंने गोलमाल जवाब देकर टाल दिया। गौरतलब है कि उचक्कों ने दम्पती का गत 13 अक्टूबर को ट्रेन से बैग पार कर लिया था। बैग में सात एटीएम थे, उनमें से कैनरा बैंक के एटीएम से करीब 47 हजार रुपए की राशि निकाल ली थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned