स्मार्ट सिटी के आरयूडीआईपी ने निर्माण पर खड़ा किया बवाल, ग्रामीणों के ‘गौरव’ पर स्मार्ट सिटी की ‘धूल

स्मार्ट सिटी के आरयूडीआईपी ने निर्माण पर खड़ा किया बवाल, ग्रामीणों के ‘गौरव’ पर स्मार्ट सिटी की ‘धूल

Mukesh Hingar | Publish: Feb, 03 2018 01:28:06 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

- मनवाखेड़ा ग्रामीणों को प्रतिदिन वाहनों से उडऩे वाली धूल खाकर चुकानी पड़ रही है।

उदयपुर . लोक निर्माण विभाग, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट और ग्राम पंचायत के बीच बिगड़े तालमेल की कीमत मनवाखेड़ा ग्रामीणों को प्रतिदिन वाहनों से उडऩे वाली धूल खाकर चुकानी पड़ रही है।

 

READ MORE : राजस्थान की जनता ने दिया भाजपा को तीन तलाक... उपचुनावों में बीजेपी की हार और कांग्रेस की जीत पर लोगों ने ऐसे लिए मजे

 

गौरवपथ निर्माण के लिए खोदी गई डामर सडक़ क्षेत्र में राजस्थान अरबन डवलपमेंट इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट (आरयूडीआईपी) ने अव्यवस्थित चैंबर बनाकर नई परेशानी खड़ी कर दी है। एेसे में अधूरी सीसी सडक़ निर्माण कार्य को पूरा कराने में खासी दिक्कतें आ रही हैं। ऊंचे चैंबर के बीच सीसी सडक़ बनाना संभव नहीं हो रहा है।

 

कई बार आग्रह करने के बावजूद प्रोजेक्ट के अधिकारी ग्रामीणों की परेशानी समझने को तैयार नहीं हैं। एेसे में लोक निर्माण विभाग कार्य को गति नहीं दे पा रहा है। समस्या तब और चिंताजनक हो जाती है, जब ग्राम पंचायत की ओर से भी ग्रामीणों को कोई आश्वासन नहीं दिया जा रहा। गौरतलब है कि खुदी हुई सडक़ पर पड़ी गिट्टी से वाहन सवारों के आए दिन गिरने की भी शिकायतें बनी हुई हैं।

 

यह है तकनीकी दिक्कत
गौरवपथ योजना के तहत मनवाखेड़ा मुख्य मार्ग की डामर सडक़ को तोडक़र सीसी सडक़ बनाई जानी थी। इसके तहत सडक़ पर डब्ल्यूबीएम के ऊपर ६ इंची सीसी सडक़ तैयार करनी है। इस बीच सीवरेज लाइन बिछाने के दौरान आरयूडीआईपी अधिकारियों ने सडक़ के बीच में चेंबर को अलग-अलग जगहों पर मनमानी पूर्वक ऊंचा-नीचा कर दिया है।

 

यह अंतराल कहीं-कहीं पर १० इंच तक भी है। एेसे में आधे छोड़े गए सडक़ निर्माण को पूरा करने में पीडब्ल्यूडी को दिक्कतें आ रही हैं। इसके अलावा सीवरेज चेंबर सडक़ के मध्य में बनाए गए हैं, जिससे रोलर से सेटलमेंट करने में भी मुसीबत बढ़ गई है। समस्या को लेकर विभाग के सहायक अभियंता की ओर से प्रोजेक्ट अधिकारियों के साथ स्थानीय सरपंच के साथ व्यवस्था सुधार को लेकर मंतव्य हुआ। लेकिन, कई दिनों बाद भी व्यवस्था सुधार के कदम नहीं उठाए गए।

 

समाधान जल्द
प्रोजेक्ट अधिकारियों को चेंबर एक लेवल पर करने को कहा गया है। उम्मीद है कि एक-दो दिन में समस्या का समाधान हो जाएगा। इसके बाद सडक़ कार्य पूरा कर दिया जाएगा।

-अशोक उपाध्याय, सहायक अभियंता, पीडब्ल्यूडी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned