DIWALI 2017: दिवाली है, उदयपुर में लाखों पर्यटक आएंगे, सुविधाओं के लिए कमर कस लो

DIWALI 2017:   दिवाली है, उदयपुर में लाखों पर्यटक आएंगे, सुविधाओं के लिए कमर कस लो

Mukesh Hingar | Publish: Oct, 18 2017 04:15:03 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

अफसर बोले, पर्यटकों के लिए सुकूनदायी बने लेकसिटी

उदयपुर . जिला पर्यटन विकास समिति की बैठक में शहर के विभिन्न पर्यटन स्थलों को स्वच्छ-सुंदर, निर्बाध आवागमन, सुव्यवस्थित पार्र्र्किंग सहित पर्यटकीय सुविधाओं को और प्रभावी बनाने पर चर्चा हुई। होटल व्यवसायियों ने कहा कि पर्यटक अब आने वाले हैं, सीजन शुरू होने वाली है। ऐसे में शहर को बहुत बदलने की जरूरत है और प्रशासन उस पर काम करें तो अफसरों ने कहा कि लेकसिटी को सुकूनदायी बनाई जाए।


कलक्ट्री में अतिरिक्त जिला कलक्टर सी.आर.देवासी की अध्यक्षता में हुई बैठक में नगर निगम एवं नगर विकास प्रन्यास के परिधि क्षेत्र में यातायात को निर्बाध बनाने, ऑटो किराया निर्धारित करने, सार्वजनिक स्थलों की मरम्मत, नियमित साफ -सफाई, झीलों के किनारों को कचरा व प्रदूषण रहित बनाने पर जोर दिया गया। देवासी ने प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर सख्ती करने, ई-रिक्शा को बढ़ावा देने, विभिन्न स्थानों पर पर्यटक सुविधार्थ साइनेज अंग्रेजी व हिन्दी में लगवाने, शहर में विभिन्न मार्गों पर जाम की स्थिति को रोकने के लिए वाहनों की सही स्थान पर पार्किंग, यातायात डायवर्ट करने, जरूरत पर मार्ग को वन-वे करने आदि पर ख्याल रखने की बात कही।

 

READ MORE: DIWALI 2017: धनतेरस पर उदयपुर के बाजारों में 200 करोड़ से अधिक की धनवर्षा, जमकर हुई खरीद


सज्जनगढ़ पर फ्लड लाइट्स का कार्य
पर्यटन उपनिदेशक सुमिता सरोच ने कहा कि जिले में पर्यटन विकास के मद्देनजर चावण्ड स्मारक के रख-रखाव एवं गोगुन्दा में विकास कार्यों को लेकर समितियां गठित कर दी गई है। सज्जनगढ़ पर फ्लड लाइट्स का कार्य पूर्ण तथा जयसमंद पर वाटर स्पोट्र्स दीपावली पश्चात शुरू करा दिया जाएगा। एसआईईआरटी के अधिकारी ने बताया कि सहेलियों की बाड़ी में पूर्व में चल रहे साइंस म्यूजियम को स्थानान्तरित कर दिया गया है। उसके स्थान पर मृणशिल्प आधारित 21 कलाकृतियां प्रदर्शित की जाएंगी। साथ ही सहेलियों की बाड़ी गार्डन में हर्बल गार्डन के लिए निर्माण कार्य चल रहा है।

 

पर्यटक आए उससे पहले यह सब कीजिए

- रात्रि समय में भी शहर में साफ-सफाई हो
- वाहनों की गति नियंत्रित की जाए
- ध्वनि प्रदूषण को रोकने पर काम हो
- पर्यटन स्थलों पर पार्किंग की दरें या नि:शुल्क इसके बोर्ड लगाएं
- टॉयलेट की साफ-सफाई नियमित हो
- नि:शक्तजन के अनुकूल टॉयलेट भी हो
- दर्शनीय स्थलों पर ठगों पर निगरानी व कार्रवाई की जाए
- अवैध चल रहे रेस्तरां, होटल्स की जांच की जाए
(बैठक में होटल एसोसिएशन ने दिए सुझाव)

tourists in udaipur

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned