video : उदयपुर में डॉक्‍टर्स ने अस्‍पताल के बाहर पोर्च में बैठ कर की मरीजों की जांच, कहीं टेंट लगाकर देखे मरीज

video : उदयपुर में डॉक्‍टर्स ने अस्‍पताल के बाहर पोर्च में बैठ कर की मरीजों की जांच,  कहीं टेंट लगाकर देखे मरीज

Sushil Kumar Singh Chauhan | Updated: 01 Dec 2017, 03:25:02 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

चिकित्सकों ने ड्यूटी ऑवर्स में अस्पताल के बाहर पोर्च में बैठ मरीजों की जांच की

 

उदयपुर . अखिल राजस्थान सेवारत संघ (अरिस्दा) के पदाधिकारियों के तबादलों के विरोध में चिकित्सकों की दो घंटे की सांकेतिक हड़ताल मरीजों के लिए परेशानी का कारण रही। आमजन को होने वाली परेशानी को ध्यान में रखकर चिकित्सकों ने ड्यूटी ऑवर्स में चिकित्सा संस्थान के बाहर खुले में मरीजों को देखा। इधर, सराड़़ा में डाॅक्टरों ने अस्पताल के बाहर टेन्ट लगा कर मरीज देखे। डाॅॅक्‍टर्स के खिलाफ नाराजगी जताई परन्तु मरीजों की पूरी देखभाल की।

प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. एसएल बामनिया ने बताया कि जयपुर कोर कमेटी की बैठक में अतिरिक्त निदेशक पद पर तैनात प्रशासनिक अधिकारी गिरीश पाराशर को हटाने, दर्ज सभी मुकदमे वापस लेने, आंदोलन अवधि को अवकाश में मर्ज करने, 12 चिकित्सकों के तबादले निरस्त नहीं होने तक चिकित्सक ओपीडी के बाहर टेंट लगाकर मरीजों को देखने का निर्णय किया गया। गैर चिकित्सकीय कामों में चिकित्सक हिस्सेदारी नहीं निभाएंगे।

 

READ MORE: यहां के ग्रामीणों के साथ हुआ कुछ ऐसा, नेटवर्क नहीं मिलने से सामने आई ये मुसीबत

 

मरीजों की दिक्कत
जिला अस्पतालों, सीएचसी, पीएचसी, शहरी डिस्पेंसरी सहित अन्य राजकीय चिकित्सा संस्थानों में सुबह 9 से 11 बजे तक जारी रही हड़ताल के बीच मरीजों को जल्दी पहुंचकर भी चिकित्सकों के सीट पर लौटने का इंतजार करना पड़ा। कड़ी में बुजुर्ग, गर्भवती एवं बच्चों को खासा परेशान होना पड़ा। कृषि उपज मंडी एवं सराड़ा सीएचसी में मरीजों की हालत खराब ही बनी रही।

नही बन सका वेतन
सरकार की ओर से समझौतों को लेकर दिशा-निर्देश नहीं मिलने से प्रदेश के सभी जिलों में चिकित्सकों का नवम्बर का वेतन नहीं बन पाया है। हड़ताल को छुट्टी में मर्ज नहीं करने के आदेश के अभाव में उदयपुर के सभी चिकित्सक एवं चिकित्सा विभाग के अधीन सेवारत नर्सेज स्टाफ का वेतन भी नहीं बन पाया है। इधर, हड़ताल पर रही एसीएमएचओ डॉ. अग्रवाल ने पदाधिकारियों का साथ छोड़ते हुए डीएचएस में उपस्थिति दर्ज करवाई, जबकि आरसीएचओ डॉ. अशोक आदित्य अवकाश पर होने के कारण शामिल नहीं हुए।

doctors strike

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned