सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय में आ सकते हैं राज्यपाल, एमपीयूएटी में वर्चुअली मिलेंगे मेहनत के मेडल

विशेष दीक्षान्त समारोह:- ...कोरोना काल ने बदले हालात
एमपीयूएटी में आईआईटी चैन्नई व मुम्बई की तर्ज पर आयोजन

By: bhuvanesh pandya

Published: 01 Dec 2020, 07:33 AM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. कोरोनाकाल में अब दीक्षान्त समारोह भी विशेष होंगे। दो विश्वविद्यालयों ने इसकी तैयारी कर ली है। सुखाडिय़ा विवि ने दोनों की तैयारी की है। एमएलएसयू में 22 दिसम्बर को होने वाले दीक्षान्त समारोह के लिए राज्यपाल को कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह ने न्यौता दिया है, तो एमपीयूएटी यानी कृषि विवि में कुछ आईआईटी मुम्बई व चैन्नई की तर्ज पर ऐसी वर्चुअली तैयारी की गई है कि मेडल लेने वाले विद्यार्थी मंच पर ऐसे धुएं के बीच ऑनलाइन नजर आएंगे जैसे आमने-सामने ही आयोजन में कुलाधिपति यानी राज्यपाल से मेडल ग्रहण कर रहे हों।
------

सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय
सुखाडिय़ा विवि के कुलपति प्रो.अमेरिका सिंह ने बताया कि उन्होंने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल कलराज मिश्र को 22 दिसम्बर को होने वाले दीक्षान्त समारोह के लिए आमंत्रित किया है। जल्द ही इस पर राज्यपाल का निर्णय आएगा। इसी आधार पर यह आयोजन किया जाएगा। यदि राज्यपाल दीक्षान्त समारोह में शिरकत करते हैं तो भी आयोजन में केवल 100 ही लोगों को शामिल किया जाएगा। करीब 90 विद्यार्थी शामिल रहेंगे, जिन्हें स्वर्ण पदक दिया जाना है। विवि की ओर से जिला प्रशासन से स्वीकृति मांगी जा रही है। यहां सभा भवन में पूरी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ आयोजन किया जाएगा। कुलपति सिंह ने बताया कि ऑनलाइन आयोजन की तैयारी भी कर रखी है, ताकि हाइटैक वर्चुअली आयोजन किया जा सके। हालांकि आयोजन में राज्यपाल के आने की पूरी संभावना जताई जा रही है।

महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
इसे भी ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों मोड पर करवाने की तैयारी की गई है। कार्यक्रम कॉर्डिनेटर प्रो. अजयकुमार शर्मा ने बताया कि ऑफलाइन मोड को लेकर सीटीएई में प्लेसमेंट सेल के कक्ष में मंच तैयार किया जाएगा। आयोजन 24 दिसम्बर को होगा। यहां मंच पर कुलपति डॉ. एनएस राठौड़, रजिस्ट्रार कविता पाठक व परीक्षा नियंत्रक डॉ. सुनीलकुमार इंडोरिया बैठेंगे। साथ में प्रो शर्मा भी रहेंगे। राजभवन से ऑनलाइन मोड पर राज्यपाल कार्यक्रम के शुरुआत की घोषणा करेंगे। आयोजन में जिन विद्यार्थियों को मेडल मिलेंगे उन्हें बारी-बारी से ऑनलाइन बुलाया जाएगा, बकायदा स्क्रीन पर वे उभरेंगे और ऐसे ही नजर आएंगे जैसे राज्यपाल स्वयं उन्हें मेडल पहना रहे हो। इस तरह के वर्चुअल आयोजन की तैयारी की गई है। यह तैयारी आईआईटी चैन्नई व मुंबई की तर्ज पर की गई है।

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned