जो विषय पढ़ाए ही नहीं जाते इस विवि ने उनमें भी भरवा दिए छात्रों से आवेदन

सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय mlsu udaipur के संघटक कला महाविद्यालय में छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर कला महाविद्यालय में जो विषय समूह बताए गए हैं उनमें से कुछ पढ़ाए ही नहीं जाते हैं। इसके बावजूद आवेदन मांग लिए गए। वेबसाइट देखकर प्रवेश के इच्छुकों ने ऑनलाइन आवेदन कर दिए। इस गलती पता चलने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों को मोबाइल पर संदेश भेजकर पुन: विषय चयन करने को कहा लेकिन एडिट ऑप्शन ही नहीं खुला। ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तारीख शनिवार को थी। विश्वविद्यालय एवं कॉलेज की गलती से कई छात्र अपनी पसंद के विषय का अध्ययन नहीं कर पाएंगे।

By: Bhagwati Teli

Published: 07 Jul 2019, 03:58 PM IST

उदयपुर . सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय mlsu के संघटक कला महाविद्यालय में छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर कला महाविद्यालय में जो विषय समूह बताए गए हैं उनमें से कुछ पढ़ाए ही नहीं जाते हैं। इसके बावजूद आवेदन मांग लिए गए। वेबसाइट देखकर प्रवेश के इच्छुकों ने ऑनलाइन आवेदन Online admission कर दिए। इस गलती पता चलने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों को मोबाइल पर संदेश भेजकर पुन: विषय चयन करने को कहा लेकिन एडिट ऑप्शन ही नहीं खुला।

ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तारीख शनिवार को थी। विश्वविद्यालय एवं कॉलेज की गलती से कई छात्र अपनी पसंद के विषय का अध्ययन नहीं कर पाएंगे। विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर कॉलेज के पोर्टल पर पॉपुलेशन स्टडीज, एफआरयू, लाइब्रेरी साइंस एंड इंफोर्मेशन साइंस एंड रूरल डवलपमेंट समेत कई ऐसे विषय दर्शा दिए गए है जो महाविद्यालय में पढ़ाए ही नहीं जाते हैं। छात्रनेताओं ने इसकी शिकायत की तो अब काउंसलिंग में इसका समाधान खोजने की बात कही जा रही है।


इनका कहना...
विश्वविद्यालय और महाविद्यालय दोनों की गलती है। प्रवेश चाहने वाले छात्रों के साथ मजाक किया गया है। कई छात्र विषय का पुन: चयन नहीं कर पाए। ऐसे में ऑफलाइन काउंसङ्क्षलग में छात्रों को राहत नहीं दी गई तो प्रदर्शन किया जाएगा। - मोहित नायक, छात्रनेता

ऐसा कैसे हो सकता है। हमारे पास कॉलेज डीन से जो विषय समूह आते हैं, उन्हीं में प्रवेश मांगे जाते हैं। ऐसा हुआ है तो कॉलेज में ऑफलाइन काउंसलिंग के दौरान छात्रों से पूछकर दूसरे विषय चयन का विकल्प दे देंगे। - प्रो जी सोरल, पीजी डीन सुविवि


पीजी के लिए 11 जुलाई
स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवेदन की अंतिम तारीख 11 जुलाई है। बीए का परीक्षा परिणाम जारी होने में देरी से यह तारीख बार-बार बढ़ाई गई। कला महाविद्यालय को छोडक़र सभी संघटक में इस बार ऑनलाइन काउंसलिंग होगी।

Show More
Bhagwati Teli Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned