सुखाडिय़ा ने राजस्थान को प्रगति के पथ पर अग्रसर किया : राठौड़

सुखाडिय़ा को याद किया, जयंती पर दी पुष्पांजलि

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 31 Jul 2020, 10:49 PM IST

उदयपुर. आधुनिक राजस्थान के निर्माता पूर्व मुख्यमंत्री स्व. मोहनलाल सुखाडिय़ा की जयन्ती शुक्रवार को मनाई गई। इस दौरान कांग्रेसजनों व विभिन्न संगठनों ने उनको याद किया और उनको सुखाडिय़ा समाधि पर पुष्पांजलि दी। दुर्गा नर्सरी रोड स्थित उनकी समाधि पर सुखाडिय़ा की पुत्रवधू नीलिमा सुखाडिय़ा, पौत्र दीपक सुखाडिय़ा, पंकज कुमार शर्मा, फिरोज अहमद शेख, संजय मंदवानी, भगवान सोनी आदि ने पुष्पांजलि दी। धानमण्डी स्थित कांग्रेस मीडिया सेन्टर पर कांग्रेसजनों की ओर से उनकी तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की गई।

सुविवि में व्याख्यानमाला

मोहनलाल सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय की ओर सुखाडिय़ा स्मृति व्याख्यान शुक्रवार को आयोजित हुआ। मुख्य वक्ता जगद्गुरु रामानंदाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय के पूर्व संकाय अध्यक्ष प्रो गोपीनाथ शर्मा ने "वर्तमान वैश्विक परिप्रेक्ष्य में भारतीय दर्शनों की समीक्षा" विषय पर कहा कि आज भौतिकवाद हावी हो गया है और समाज में लोग स्व केंद्रित हो गए हैं, ऐसे में भौतिक सुखों का बोलबाला हो गया है और आध्यात्मिक सुख गौण हो गया है।
मुख्य अतिथि महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो नरेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि सुखाडिय़ा एक कद्दावर राजनेता थे जिन्होंने राजस्थान को प्रगति के पथ पर अग्रसर किया। अध्यक्षता सुविवि के कुलपति प्रो अमेरिका सिंह ने सुखाडिय़ा को नमन करते हुए कहा कि उनके बारे में जितना कहा जाए कम है क्योंकि उन्होंने ना सिर्फ राजनीतिक सोच को नई दिशा दी बल्कि विश्वविद्यालयों की स्थापना करके अकादमिक जगत को भी नई ऊंचाइयां दी। सुखाडिय़ा की पुत्रवधू नीलिमा सुखाडिय़ा एवं पौत्र दीपक सुखाडिय़ा भी मौजूद थे।

Show More
Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned