VIDEO : मातृकुंडिया से किसानों की ललकार दिल्ली तक पहुंचेगी : खाचरियावास

प्रभारी मंत्री ने उदयपुर आकर संभाली कमान

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 26 Feb 2021, 11:51 PM IST

उदयपुर. केन्द्र सरकार के तीनों कृषि कानून वापस लेने के लिए सभी कमर कस ले। 27 फरवरी को मातृकुंडिया से किसानों की ललकार दिल्ली तक पहुंचानी होगी। ये तीनों कृषि कानून केन्द्र सरकार को वापस लेने होंगे और इसके लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को किसानों का पूरा साथ देना है।

यह बात गुरुवार को उदयपुर के प्रभारी परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कही। मातृकुंडिया में होने वाले कांग्रेस किसान सम्मेलन को लेकर खाचरियावास ने गुरुवार को उदयपुर आकर कमान संभाल ली।

उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि इस सम्मेलन में अधिक से अधिक को लेकर जाना है और किसानों की लड़ाई के लिए आवाज दिल्ली तक जाए, कानून वापस लिए जाए। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि वल्लभनगर विधानसभा से जिसको भी टिकट मिले उसको जिताने के लिए सबको लगना होगा, उसे हमे विधायक बनाकर विधानसभा में भेजना है।

वे सुबह एयरपोर्ट से उदयपुर के सर्किट हाउस पहुंचे। यहां शहर कांग्रेस के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से चर्चा की और सबसे कहा कि मातृकुंडिया के लिए अपनी-अपनी टीमों को जिम्मेदारियां दे देवे। बाद में अलग-अलग विधानसभा से आए पदाधिकारियों से भी उन्होंने चर्चा करते हुए उनकी भागीदारी को लेकर लक्ष्य दिए।

बाद में वे वल्लभनगर विस क्षेत्र में गए जहां पर कार्यकर्ताओं से कहा कि सम्मेलन में अधिक से अधिक लोगों को ले जाना है। वहां सबसे ज्यादा फोकस चित्तौडगढ़़ जिले से जुड़े वल्लभनगर व मावली विधानसभा पर किया। साथ के साथ ही उदयपुर शहर एवं देहात के पदाधिकारियों के होमवर्क को लेकर भी पूछा और एक-एक कर सबसे संवाद किया। उन्होंने सुबह से रात तक करीब आधा दर्जन बैठकें प्रमुख पदाधिकारियों के साथ लेकर सम्मेलन को लेकर अंतिम रूप दिया।

पेट्रोल-डीजल और गैस के दामों में लगी आग : प्रताप सिंह

इससे पहले दिन में वल्लभनगर विस के भटेवर के अमलेश्वर महादेव मंदिर में खाचरियावास कहा कि पेट्रोल-डीजल और गैस के दामों में आग लगी हुई है मोदी जी के नाम पर जो लोग अभी भी भक्ति की बात करते है वो देश के साथ धोखा कर रहें है। किसान भाजपा या कांग्रेस का झण्डा लेकर लड़ाई नही लड़ रहें है वो हिन्दुस्तान का झण्डा लिए आन्दोलन कर रहें है। उन्होंने कहा कि मातृकुंडिया के किसान सम्मेलन में उपस्थिति दर्ज कराकर किसानो का समर्थन करना है।

उदयपुर आते ही रात को हाथों-हाथ गाडिय़ां गिनाई
खाचरियावास रात को उदयपुर आए और पहले तो कार्यकर्ताओं व जनता की समस्याओं को सुना। बाद में उन्होंने कांग्रेस पदाधिकारियों के साथ चर्चा की। हाथों-हाथ उन्होंने गाडिय़ों की सूची बनाई। उन्होंने विधानसभावार कार्यकर्ताओं व किसानों को मातृकुंडिया ले जाने को लेकर उदयपुर संभाग के कांग्रेस प्रभारी व विधायक महेन्द्रजीत सिंह मालवीया, देहात के निवर्तमान अध्यक्ष लालसिंह झाला के साथ रात को ही सर्किट हाउस में पेपर वर्क किया। वल्लभनगर व मावली विस से चित्तौडगढ़़ के लिए बसों की संख्या तो हाथों हाथ ही फाइनल कर दी। उन्होंने वल्लभनगर विस के भीमसिंह चुंडावत, कुबेर सिंह चांवड़ा आदि से भी तैयारियों को लेकर जानकारी ली।

Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned