उदयपुर की वॉल सिटी को बचाएंगे तो मिलेंगे कोपेनहेगन से नजारे...

उदयपुर की वॉल सिटी को बचाएंगे तो मिलेंगे कोपेनहेगन से नजारे...
उदयपुर की वॉल सिटी को बचाएंगे तो मिलेंगे कोपेनहेगन से नजारे...

Madhulika Singh | Updated: 11 Oct 2019, 01:34:17 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

प्रोजेक्ट को मिला है गोल्ड मैडल - 300 लोगों पर किया है सर्वे

मधुलिका सिंह/उदयपुर. कोपेनहेगन की ओल्ड सिटी में ‘एलेक्जेंडर स्पातरी’ जगह है जो बिल्कुल उदयपुर के जगदीश चौक जैसी है। वहां भी सबसे ज्यादा टूरिस्ट्स उसी पॉइंट पर आते हैं और यहां आकर जमकर नाचते-गाते हैं। इस जगह व्हीकल्स अलाउड नहीं हैं सिर्फ साइकिल और पैदल चलने वाले ही अलाउ किए जाते हैं। ऐसे में वाहनों की वजह से कोई ट्रैफिक नहीं होता है। साथ ही वहां उनके कल्चर को बखूबी सहेजा गया है। जबकि जगदीश चौक जहां उदयपुर में बहुत टूरिस्ट्स आते हैं वहां सिटी का सबसे ज्यादा ट्रैफिक रहता है वो भी दिन भर। इसी तरह चांदपोल, देहलीगेट, धानमंडी, सूरजपोल पर भी ट्रैफिक अधिक रहता है। एक तरह से देखा जाए तो शहर का सबसे ज्यादा ट्रैफिक ओल्ड सिटी में ही मिलता है। यानी कि जो टूरिस्ट शहर की खूबसूरत धरोहर, ऐतिहासिकता व वैभव को देखने आते हैं, उन्हें ओल्ड सिटी की गलियों में ट्रैफिक की समस्या से दो-चार होना पड़ता है। वहीं, प्रदूषण से कई और समस्याएं भी होती हैं। ऐसे में जरूरत है वॉल सिटी को बचाने की। उदयपुर की परिधि चौबीसा ने हाल ही ‘रिवाइटिलाइजेशन ऑफ वॉल सिटी’ यानी ‘परकोटे के शहर के पुनर्रुद्धार’ को लेकर एक प्रोजेक्ट तैयार किया है। परिधि ने बताया कि उदयपुर दुनिया के सबसे खूबसरत शहरों में से एक है और यहां के परकोटे के शहर यानी वॉल सिटी को सहेजने की आवश्यकता है। इसी के तहत ‘रिवाइटलाइजेशन ऑफ वॉल सिटी’ पर उन्होंने काम किया और अब इस प्रोजेक्ट की मदद से परकोटे के शहर को बचाना चाहती हैं। वे अपना ये प्रोजेक्ट यूआईटी, नगरनिगम, स्मार्ट सिटी, टाउन प्लानिंग, आरटीडीसी, टूरिज्म डिपार्टमेंट, अरविंद सिंह मेवाड़, पुलिस के सामने प्रजेंट कर चुकी हैं। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में 6 माह का समय लगा। सर्वे के लिए ओल्ड सिटी को 8 जोन्स में बांटा। प्रोजेक्ट के तहत सर्वे के लिए उन्होंने टेक्नो एनजेआर के 50 स्टूडेंट्स को लिया था। इसमें पहले मास्टर प्लान बैकग्राउंड स्टडी किया, फील्ड ऑब्जर्वेशन फिर नीड ऑफ द स्टडी और डेटा कलेक्शन किया। डेटा कलेक्शन में ओल्ड सिटी में रहने वाले लोगों से, दुकानदारों से और टूरिस्ट्स से बातचीत कर सर्वे किया। इसमें 300 लोगों को शामिल किया गया। परिधि ने ये प्रोजेक्ट मास्टर्स ऑफ अरबन प्लानिंग की थीसिस में प्रजेंट किया था जिसे गुडग़ांव यूनिवर्सिटी ने गोल्ड मैडल दिया।

ट्रांसपोर्टेशन सर्वे - यहां रहता है सबसे ज्यादा ट्रैफिक

जगदीश चौक - सबसे ज्यादा ट्रैफिक पूरे दिन भर (सुबह 7 से 11 और शाम को 4 से 8 बजे सबसे ज्यादा ट्रैफिक) - चांदपोल गेट - सर्वाधिक ट्रैफिक पूरे दिन भर- अंबापोल- मीडियम रहता हैदेहलीगेट से धानमंडी- सुबह और देर रात सबसे ज्यादा ट्रैफिक, फेस्टिवल्स में पूरे दिन ट्रैफिक -सूरजपोल- शाम को ट्रैफिक बढ़ता है-उदयपोल- सुबह और शाम को ज्यादा ट्रैफिक - गुलाबबाग- मीडियम रहता है

उदयपुर की वॉल सिटी को बचाएंगे तो मिलेंगे कोपेनहेगन से नजारे...

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned