इस गांव में तुलसी संग ब्याह रचाने रजत पालकी में ठाठ बाट से बजंरग वाटिका पहुंंची ठाकुरजी की बारात

इस गांव में तुलसी संग ब्याह रचाने रजत पालकी में ठाठ बाट से बजंरग वाटिका पहुंंची ठाकुरजी की बारात

Madhulika Singh | Updated: 14 Jun 2019, 01:51:04 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

सैैकडोंं श्रद्धालु विवाह से पहले निकाली शोभायात्रा के साक्षी बने

मेनार. कस्बे में तुलसी विवाह उत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया गया। । कस्बे के नीम का चौराहा स्थित बजरंंग वाटिका में तुलसी विवाह उत्सव का आयोजन यादगार बन गया । आस्था व विश्वास से भरे सैैकडोंं श्रद्धालु विवाह से पहले निकाली शोभायात्रा के साक्षी बने। निर्जला एकादशी को बारात निकालकर नगर भ्रमण किया। सुबह से ही कस्बे के लोग भगवान ठाकुर जी के मंदिर पर एकत्र हुए। गांव के समस्त ग्रामीण एवंं व्रतार्थी महिलाओंं द्वारा आयोजि‍त इस तुलसी विवाह में श्रद्धा का सैलाब उमड़ा । तुलसी से ब्याह रचाने ठाकुर जी की बारात मेनार कस्बे के चारभुजा मंदिर से गुरुवार को प्रातः9.30 बजे बारात रवाना हुई जो मुख्य ओंकारेश्वर चौक से होते हुए जमराघाटी , थम्भ चाैैक , ठाकरोत दावोत मोहल्ला होते हुए नीम का चौराहा स्थित बजरंग वाटिका पहुंंची। रास्तेभर में बालिकाएं उत्साह से नृत्य करती हुई चल रही थी। इसमें सेकड़ोंं की तादाद में आए बराती चल रहे थे। बाराती झूमते नाचते शोभायात्रा में शामिल हुए। इसके बाद महिला-पुरुष डीजे के साथ उत्सवी आभा बिखेरते हुए उत्सव की शोभा बने। बारात के पहुंंचने के बाद जहांं तोरण की रस्म , हमेला , वरमाला की रस्म अदा की गई । बाद ठाकुरजी ने तुलसी संग सात फेरे लिए तुलसी विवाह सम्पन्न हुआ इस दौरान महिलाओं द्वारा ठाकुरजी के भजनों से पांडाल भक्तिमय हाे गया। इस अवसर पर वहां उपस्थित महिला-पुरुषों ने कन्यादान किया।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned