वाह धन्ना सेठ...घर में करोड़ों की सम्पत्ति और सुरक्षा के लिए 20 रुपए का ताला

वाह धन्ना सेठ...घर में करोड़ों की सम्पत्ति और सुरक्षा के लिए 20 रुपए का ताला

By: Mohammed illiyas

Published: 14 Oct 2020, 09:29 AM IST

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
कहने को तो वृद्ध सोहनलाल कोठारी नगर के धन्ना सेठ लेकिन कंजूसी का आलम ऐसा कि सुरक्षा व खुद पर कौड़ी भी खर्च नहीं। आसपास के गांव के कई व्यापारियों व लोगों को ब्याज पर इतना पैसा दे रखा कि उनकी लिखा-पढ़ी महज छोटी-छोटी पर्चियों पर करते हुए उन्हें संभाल रखी है। सभी से उन्होंने खुद के नाम के चेक ले रखे हैं। कई जेवर तो गिरवी पेटे रखे थे तो कुछ खुद के भी थे। करोड़ों की सम्पत्ति व नकदी को उसने एक कमरे में अलमारियों में रख रखा था और उनकी सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे तो छोड़ों महज 20 रुपए का ताला लगा रखा था। इतना ही नहीं जेवर व नकदी को संभालने के लिए किराया लगने के कारण बैंक में लॉकर तक भी नहीं लिया।कानोड़ कस्बे में सोमवार रात सेठ सोहनलाल (84) पुत्र मेघराज कोठारी के मकान पर हुई लूट की वारदात के बाद पुलिस व एफएसएल टीम की जांच व पूछताछ में यह तथ्य सामने आए। पुलिस इस पूरे मामले में साक्ष्य जुटाने के साथ ही लुटेरों का पता लगाने में जुटी है। पुलिस ने वृद्ध के पुत्र मदनलाल जैन की रिपोर्ट पर लूट का मामला दर्ज किया।
----- --
चाबियों से खोली अलमारी
वारदात में शामिल रहे लुटेरों ने वृद्ध के हाथों को रस्सी व पांव को तार से बांधा। चिल्लाने पर मुंह में कपड़ा ठूंसते हुए एक आरोपी उसके ऊपर बैठ गया। शेष अन्य आरोपियों ने आसानी से चाबियों से अलमारी के ताले खोलकर वारदात को अंजाम दिया। आरोपी वारदात पर किस रास्ते से गए इसका खुलासा डॉग स्कवायड के पहुंचने से पहले ही लोगों की भीड़ के कारण नहीं हो पाया।
--
गद्दों को बिखेरा, कई सारे मिले खाली चेक
धन्ना सेठ सोहनलाल कोठारी ने कानोड़ ही नहीं आसपास के कई गांव के लोगों को ब्याज पर पैसा दिया हुआ था। मौके पर लिखा-पढ़ी की कई पर्चियों के अलावा 20-25 लाख के उसके खुद के नाम के चेक मिले हैं। अलमारी के अलावा आरोपियों ने नकदी के लिए गद्दों को भी बिखर रखा था।
--
जानकारों पर ही शक
पुलिस का कहना है वृद्ध ने आसपास के कई लोगोंं को ब्याज पर उधार पैसे दिए हुए थे। इतनी बड़ी लेनदेन वह अकेला ही करता था, ब्याज लेने भी वह अकेला ही जाता था। पुलिस का शक है कि वृद्ध की गतिविधियों व उसके पास पैसा व जेवर होने की किस न किसी को पूरी जानकारी थी, इसी कारण से उसने वारदात को आसानी से अंजाम दिया। आरोपियों ने मकान में करीब दो से तीन घंटे बिताए।
----
इनका कहना है
मौका मुआयना किया है। हर पहलू पर जांच की जा रही है। पूर्व चालानशुदा अपराधियों के साथ ही वृद्ध के निकटतम रहे लोगों को भी टटोला जा रहा है।मुकेश सांखला,एएसपी (ग्रामीण)

Mohammed illiyas Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned