WATCH : मेयर अंकल...कब चलेगी हमारी छुक-छुक रेलगाड़ी

- गुलाबबाग टॉय ट्रेन के नहीं होने सूना
- मासूम निराश लौट रहे है

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. लेकसिटी में घूमने आने वाले गुलाबबाग जरूर जाते है। जाना भी इसलिए जरूरी है कि बच्चों को ट्रेन की सवारी तो करानी ही है। अभी गुलाबबाग में न तो बच्चों की ट्रेन का सिंग्नल सुनने को मिल रहा है न बच्चों का शोर। यहां ट्रेन की सवारी के लिए आने वाले निराश लौटते है। पुरानी ट्रेन को बदलने के लिए करीब 10 साल से ज्यादा की कवायद् चल रही है लेकिन हुआ कुछ नहीं। अब जब नई ट्रेन का कार्यादेश दे दिया तो कुछ उम्मीदें बंधी। ट्रेन की सवारी के लिए आने वाले बच्चों का सवाल है कि ट्रेन कब तक चल जाएगी। इधर, नगर निगम के महापौर का कार्यकाल भी इसी साल खत्म होने जा रहा है, बच्चों का सवाल भी लाजमी है कि मेयर अंकल... अभी आप कुर्सी पर है तब तक ट्रेन चला देंगे क्या?
गुलाबबाग में बरसों से टॉय ट्रेन सबसे बड़ा आकर्षण का केन्द्र रही। ट्रेन के आए दिन होने वाले हादसों के बाद इस ट्रेन को बंद ही करा दिया गया। नई टॉय ट्रेन की बात सुनते-सुनते कई साल निकल गए है। अब जब नई ट्रेन व ट्रेक का कार्योदेश दे दिया, तीन महीने में ट्रेन शुरू करनी है वैसे गति को देखकर तो नहीं लगता है कि इस अवधि में शुरू हो जाएगा लेकिन इसी अवधि में नगर निगम बोर्ड का कार्यकाल भी खत्म होने वाला है। महापौर चन्द्र सिंह कोठारी के कार्यकाल में ही ये ट्रेन चलेगी या नहीं यह सवाल बच्चों का है।
शहर वाले हो या पर्यटक सबको टॉय ट्रेन का इंतजार है। गुलाबबाग में अभी ट्रेन का टे्रक हटा दिया गया है, अभी यादों में रह गई है ट्रेन, नई ट्रेन आने के बाद इसकी इंतजार पूरी होगी। नई ट्रेन को लेकर वहां काम शुरू कर दिया है, लेकिन अब नया ट्रेक बिछाया जाएगा। बच्चों की ट्रेन को लेकर उम्मीदें है कि दीपावली पहले नई टॉय ट्रेन की सौगात शहर को मिल जाएगी क्या। ट्रेन के साथ ही अब गुलाबबाग पर्यटन का बड़ा केन्द्र हो जाएगा क्योंकि यहां दो और केन्द्र है जो सबसे आकर्षण का केन्द्र होंगे।
--
पटरी से उतरती टॉय ट्रेन
- गुलाबबाग में टॉय ट्रेन आए दिन पटरी से उतरने की घटनाएं हो रही थी।
- डिब्बे पलटने एवं पटरी से उतरने से यात्रियों को चोटें लगने की घटनाएं हुई।
- ट्रेन का रूट भी बरसों स्थापित किया गया जिसमें कोई बदलाव नहीं हुआ।
- टॉय ट्रेन का स्वरूप भी पुराना था जबकि देश में कई जगह नए ट्रेक पर नए अंदाज वाली ट्रेने चली।
--
नई टॉय ट्रेन की खास बातें
- साढ़े पांच करोड़ का प्रोजेक्ट है
- अहमदाबाद का कांकरिया मॉडल होगा
- शेर वाली फाटक के पास नया स्टेशन बनेगा, बुकिंग भी
- कमल तलाई पर भी स्टॉपेज होगा
- पूरा ट्रेक नया बनेगा
- पटरियों की चौड़ाई बढ़ाई जाएगी।
- बुकिंग स्थल पर नि:शुल्क शुद्ध पानी व विद्युत व्यवस्था भी होगी
- ट्रेन आधुनिक होगी जो बच्चों को आकर्षित करेगी।
--
यह तय किया टिकट
श्रेणी ... शुल्क
विदेशी ... 100
विदेशी (12 वर्ष तक)... 50
भारतीय ... 50
भारतीय (12 वर्ष तक)... 25
3 वर्ष तक के बच्चे ... नि:शुल्क
(यह अनुबंध में दरें रखी गई है)
---
हमने वर्क ऑडर दे दिया
हमने वर्क ऑडर दे दिया है। काम भी शुरू कर दिया है। जल्द ही तय समय में काम पूरा हो इस पर हमारा फोकस है। इस अवधि में ही हम उदयपुर को नई टॉय ट्रेन की सौगात दे देंगे।
- चन्द्रसिंह कोठारी, महापौर

 

Mukesh Kumar Hinger
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned