अब तो दे दो किराएदारों व नौकरों की सूची,पुलिस...पहुंचेगी डोर-टू-डोर, बांटेगी फॉर्म

अब तो दे दो किराएदारों व नौकरों की सूची,पुलिस...पहुंचेगी डोर-टू-डोर, बांटेगी फॉर्म

Krishna Kumar Tanwar | Publish: Sep, 04 2018 08:19:53 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

मो.इलियास/उदयपुर . हम कितने सावचेत हैं, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बार-बार कहने पर हमने कभी हमारे यहां रहने वाले किराएदार व नौकरों की सूची व आईडी पुलिस को उपलब्ध नहीं करवाई। नतीजा यह हुआ कि पड़ोस में रहा किराएदार वारदात करके निकल गया तो कभी बाहरी पुलिस छापा मारकर बगल से आरोपी को पकड़ कर ले गई। जनता का सहयोग नहीं मिलने पर अब पुलिस ने इसका बीड़ा उठाया है। पुलिस की टीम अब डोर टू डोर जाकर फॉर्म बांटते हुए मकान मालिक, किराएदार व नौकरों की सूचना का संकलन कर रही है। पिछले छह दिन से जिले के हर थाना क्षेत्र में मकान का सर्वे कर फॉर्म बांटने का काम जारी है।फॉर्म में मकान मालिक व उनके पूरे परिवार तथा किराएदार व नौकर की आईडी सहित पूरी जानकारी मांगी गई है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि यदि कोई अपनी आईडी उपलब्ध नहीं करवाएगा तो निश्चित रूप से शक के दायरे में आ जाएगा। प्रत्येक थाने में उनके क्षेत्र में रहने वाले समस्त लोगों की जानकारी उपलब्ध होगी।

 

व्यावसायिक प्रतिष्ठानों से भी मांगी जानकारी
पुलिस ने हर थाना क्षेत्र में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में कार्यरत कर्मियों व नौकरी की भी जानकारी मांगी है ताकि यह स्पष्ट हो पाए कि कौन कब छोड़ निकला। वारदात होने पर उस व्यक्ति को तुरंत टटोला जा सके।

 

ये हैं सर्वे एवं सत्यापन के कारण

अधिशासी अभियंता पर हमला
गोवद्र्धनविलास थाना क्षेत्र के आई ब्लॉक में अधिशासी अभियंता के घर में घुसकर उन पर चाकू से हमले के आरोपी का अब तक पता नहीं चला। जांच में आरोपी के पैदल ही भागने की आशंका पर पुलिस ने आई ब्लॉक के करीब तीन सौ मकानों के अलावा पूरे क्षेत्र में अब तक एक हजार से ज्यादा मकानों को सर्वे कर लिया। सर्वे में उन्होंने किराएदारों व नौकरों की सूची भी बना ली। कुछ घरों में किराएदार गायब मिले लेकिन दो से तीन दिन के बाद वे स्वयं तस्दीक करवाकर गए।


- घंटाघर क्षेत्र में एक बंगाली कारीगर व्यापारी के जेवर ले भागा। पुलिस व मकान मालिक को उसके बारे में कोई जानकारी नहीं थी। बाद में सर्वे कर बंगालियों की सूची बनाई गई।

- सविना क्षेत्र से कुछ दिनों पूर्व चित्तौडगढ़़ धोखाधड़ी के आरोपी को पकड़ ले गई। फर्जी विवाह कराकर ठगी करने वाला यह आरोपी यहां डेढ़ साल से रह रहा था।

- गोवद्र्धनविलास क्षेत्र में चार पहिया वाहन चोरी का शातिर आरोपी मकान खाली कर सुखेर क्षेत्र रहने लगा। उसने वहां वाहन चोरी की वारदातें की और पुलिस को इसका पता लम्बे समय के बाद चला था।
- भट्टजी बाड़ी क्षेत्र में एक मकान से नौकर लाखों के जेवर पार कर फरार हो गया था।

- शहर में व्यवसायियों पर फायरिंग का आरोपी आदित्य भी शुभम व खालिद बनकर लम्बे समय से रहकर वारदातें करता रहा था।

 

READ MORE : उदयपुर में जिपलाइन में हवा में टकराए दो युवक, बाल-बाल बची मासूम... सुरक्षा इंतजाम पर लोगों ने उठाए सवाल..

 

जो भी व्यक्ति किराएदार व नौकर के रूप में या कर्मचारी है तो उसका सत्यापन कर रहे हैं। पुलिस एक्ट के प्रावधानों के तहत यह जनता की तरफ से होना चाहिए था। अब हम फॉर्म बंटवा रहे हैं। लोग स्वयं भी थानों से फॉर्म ले सकते हैं। यह डेटा थाने पर रखा जाएगा। हम इस डेटा से देखेंगे कि कोई व्यक्ति ऐसा तो नहीं रह रहा जो अवांछित हो। डेटा में नाम, पता, आईडी प्रूफ सब हैं, अगर वह गलत प्रवृत्ति का होगा तो डेटा नहीं देना चाहेगा। छह दिन से यह काम चल रहा है।
कुंवर राष्ट्रदीप, पुलिस अधीक्षक

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned