वीडियो : उदयपुर के गुलाबबाग में शेरवाली फाटक पर नहीं बनेगा टॉय ट्रेन का नया प्लेटफॉर्म

Mukesh Hingar | Updated: 13 Aug 2019, 10:00:00 AM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

टॉय ट्रेन के ट्रेक का नया रूट बनेगा, जिसमें नहीं होगी पेड़ों की बलि

मुकेश हिंगड़ / कृष्णा तंवर. उदयपुर. शहर के ऑक्सीजन पॉकेट गुलाबबाग में बच्चों की ट्रेन के लिए पेड़ों की बलि नहीं ली जाएगी। इसके लिए अब टॉय ट्रेन के ट्रेक का नया रूट बनेगा और शेर वाली फाटक के पास भी ट्रेन का प्लेटफॉर्म भी नहीं बनेगा। पूरा नया प्लान जल्द तैयार किया जाएगा और उसी के अनुरुप टॉय ट्रेन शुरू करने की कवायद् होगी। यह सैद्धांतिक सहमति सोमवार को गुलाबबाग में टॉय ट्रेन के ट्रेक के निरीक्षण के दौरान किया गया। ट्राय ट्रेन के ट्रेक में करीब 140 से ज्यादा पेड़ों की बलि के विरोध के बाद पहली बार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया भी पहुंचे, बड़ी बात यह है कि इस दौरें में महापौर चन्द्रसिंह कोठारी नहीं थे। शाम चार बजे का समय तय किया गया, पेड़ों के काटने के बाद आए विरोध को लेकर भाजपा शहर अध्यक्ष कुंतीलाल जैन व उप महापौर (गैरेज समिति अध्यक्ष) लोकेश द्विवेदी व कोर्ट में पीएलआई लगाने वालों को भी गुलाबबाग बुलाया गया था। इस बीच नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया व ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा भी पहुंच गए। बाद में इन सबके साथ पीएलआई दाखिल करने वाले दिनेश गुप्ता, पूर्व बार अध्यक्ष प्रवीण खंडेलवाल, कृष्णकांत कुमावत श्यामसुंदर खंडेलवाल, राजेश वसीटा, निगम गैरेज अधीक्षक बाबूलाल चौहान व समाजसेवी दिनेश मकवाना के साथ दौरा शुरू हुआ। दौरें में महापौर कोठारी की अनुपस्थिति चर्चा का विषय बना रहा।
---
अब कमलतलाई का पूरा राउण्ड करेगी
दौरा शुरू करते हुए पीएलआई लगाने वाले सदस्यों ने कटारिया को बताया कि किस तरह से पेड़ों की बलि ली जाएगी। जब शेरवाली फाटक के पास पहुंचे तो सामने आया कि वहां सर्वाधिक पेड़ों की बलि ली जाएगी तो कटारिया व टीम ने कहा कि यह कतई नहीं हो। बाद में ट्रेक के अलग-अलग रूटों को देखते हुए यह तय किया गया कि पेड़ों की कटाई नहीं हो और ट्रेन का ट्रेक भी बन जाए इसके अनुसार रूट तय किया जाए, कमलतलाई का पूरा राउण्ड किया जा सकेगा ऐसा भी रूट में लेंगे।
---
दौरें के बाद यह तय किया गया
1. शेरवाली फाटक के पास प्लेटफॉर्म नहीं बनाया जाएगा क्योंकि वहां सर्वाधिक पेड़ों को नुकसान होगा, वहां अभी जो पार्किंग है वह भी खत्म हो जाएगी। तय किया कि यहां प्लेटफॉर्म नहीं बनाया जाएगा।
2. समोरबाग के सामने की फाटक के पास वाली दूसरी बंद रहने वाली फाटक पर प्लेटफॉर्म बनाया जाएगा। वहां पेड़ों की भी बलि नहीं जाएगी और जगह भी है।
3. टॉय ट्रेन चलाने में पुराने ट्रेक वाली जगह का ज्यादा से ज्यादा उपयोग किया जाएगा।
4. पुराने ट्रेक के उपयोग करते हुए कमलतलाई ट्रेक को कमलतलाई का पूरा राउण्ड कराते हुए समोर बाग के सामने वाली बंद फाटक तक ले जाएंगे।
5. बंद फाटक से बर्ड पार्क होकर वापस पुराने ट्रेक होकर स्टेशन जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned