झीलों में पानी उतरते ही गंदे नाले देखने पहुंची टीमें, दिए यह निर्देश

झीलों में पानी उतरते ही गंदे नाले देखने पहुंची टीमें, दिए यह निर्देश

Sikander Pareek | Publish: Apr, 06 2019 11:25:09 AM (IST) | Updated: Apr, 06 2019 11:25:10 AM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/udaipur-news/

मुकेश हिंगड़/उदयपुर . जलस्तर गिरने के बाद झीलों में गिरते सीवरेज नालों को चिह्नित कर उन्हें समय रहते बंद करने को लेकर नगर निगम ने कार्रवाई शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि जिला कलक्टर आनंदी ने गत दिनों निगम से गंदे नालों की जानकारी लेते हुए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए थे। इस पर निगम की टीमों ने पिछोला झील का दौरा कर तकनीकी रिपोर्ट बनानी शुरू कर दी है।
राजस्थान पत्रिका में पिछले दिनों ‘झीलों में पानी उतरते ही दिखने लगे गंदे नाले’ शीर्षक से प्रकाशित समाचार के बाद जिला कलक्टर आनंदी ने निगम के अफसरों से इसकी पूरी रिपोर्ट मांगी थी। साथ ही पिछले दिनों उदयपुर आए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स 2016 की राज्य स्तरीय कमेटी के चेयरमैन एवं राजस्थान हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश दीपक माहेश्वरी ने भी इस मामले में निगम आयुक्त से कहा कि वे अभी झीलें खाली हैं तो इस कार्य को प्राथमिकता से करवाए। कलक्टर आनंदी के निर्देश के बाद निगम के अधीक्षण अभियंता मुकेश चंद पुजारी ने पिछोला झील किनारे जाकर झील में गिर रहे नालों की जानकारी ली। बाद में स्वास्थ्य अधिकारी नरेन्द्र श्रीमाली, एक्सईएन हरीश त्रिवेदी, सत्यनारायण शर्मा सहित अन्य इंजीनियर भी मौके पर पहुंचे। तकनीकी टीम रिपोर्ट तैयार कर उच्च अधिकारियों को सौंपेगी। झील विकास प्राधिकरण के सदस्य तेजशंकर पालीवाल के अनुसार झीलों में पानी कम हो रहा है और प्रदूषण बढ़ रहा है, यह शहर के लिए चिंता का विषय है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned