उदयपुर में प्‍यासी हैं तीन दर्जन कॉलोनियां, कारण जानकर आप भी जान जाएंगे किसकी है लापरवाही

‘महंगी’ योजना के आगे ‘सस्ती’ सैकड़ों की प्यास, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग ने योजनाएं तो बनाई लेकिन उसे अमल में नहीं लाया

By: bhuvanesh pandya

Published: 04 Jan 2018, 12:51 PM IST

उदयपुर . शहर की तीन दर्जन से अधिक कॉलोनियों के सैकड़ों लोगों के कण्ठ अभी प्यासे हैं, तो विभाग कागजी घोडे़ दौड़ाने के अलावा मूर्त रूप से कुछ नहीं कर पा रहा। कागजों पर मुहर लगने से पहले ही पूरी योजना को ही पलीता लग जाता है। उदयपुर शहर में नगर विकास न्यास के अन्तर्गत आने वाली करीब तीन दर्जन से अधिक कॉलोनियों में जहां पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है, उसे लेकर दो बार जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग ने योजनाएं तो बनाई लेकिन उसे अमल में नहीं लाया जा सका। इसे लेकर कई बार विभागीय बैठक हुई, तख्मीना तैयार हुआ, लेकिन सब कुछ बेनतीजा। अब जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग इन कॉलोनियों में पानी की सप्लाई के लिए नगर विकास प्रन्यास से आर्थिक मदद मांगने की तैयारी में जुट गया है।

 

READ MORE: उदयपुर में कलक्ट्रेट परिसर में पुलिसकर्मियों पर हमले का मामला, पेट्रोल छिड़क लगाई आग, चाकू से किया वार


विधायक भी जुटे : उदयपुर के ग्रामीण विधायक फूलसिंह ने भी इसे लेकर विभाग व जिला प्रशासन को जल्द पानी सप्लाई योजना तैयार कर अमल में लाने के लिए आवाज उठाई है। सिंह ने बताया कि पहले की योजना काफी महंगी साबित हो रही है, साथ ही नई योजना को लेकर विभाग से चर्चा भी की जा रही है कि कैसे लोगों तक पानी लाया जा सके। सिंह ने बताया कि छोटी-छोटी टंकियां बनाकर वहां तक पानी पहुंचाने की योजना पर भी विचार किया जा रहा है, हालांकि इस पर अभी मुहर नहीं लगी है। इसे लेकर विभाग व यूआईटी से चर्चा कर निर्णय लिया जाएगा।


यूआईटी से सहयोग लेंगे
पहले दो योजनाएं फेल हो गई है, क्योंकि इसमें कई समस्याएं आ रही थी, हम जल्द ही यूआईटी से सहयोग लेकर कुछ शुरुआत करेंगे। आखिर कॉलोनियां तो न्यास की ही हैं। खास तौर पर बेड़वास क्षेत्र व नाकोड़ा नगर की कॉलोनियों सहित कई अन्य कॉलोनियां भी इसमें शामिल हैं।
आनन्दप्रकाश मीणा, अधीक्षण अभियन्ता, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग उदयपुर

Show More
bhuvanesh pandya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned