scriptchange in weather rohini nakshatra started | रोहणी की शुरुआत से पहले मौसम में आया बदलाव | Patrika News

रोहणी की शुरुआत से पहले मौसम में आया बदलाव

चलता रहेगा बूंदाबांदी और बादलों की लुकाछिपी का दौर

उज्जैन

Published: May 24, 2022 10:13:28 pm

उज्जैन. मंगलवार सुबह जब लोग जागे और घरों के बाहर निकले, तो रिमझिम बारिश चल रही थी। 25 मई बुधवार से रोहणी की शुरुआत हो रही है, इससे पहले ही मौसम में बदलाव आ गया है। तीखी धूप और गरम हवा के थपेड़ों से थोड़ी राहत मिलने लगी है, हालांकि उमस अभी भी बरकरार है।
तापमान में भी उतार-चढ़ाव का क्रम बना हुआ है। तेज उमस के आगे पंखे-कूलर भी दम तोड़ते नजर आ रहे हैं। इधर, मंगलवार को मौसम का नजारा कुछ बदला-बदला नजर आया। आसमान में बादलों का डेरा था और कुछ देर के लिए बूंदाबांदी शुरू हो गई। शहर में करीब 0.2 मिमी वर्षा दर्ज हुई।

change in weather rohini nakshatra started
चलता रहेगा बूंदाबांदी और बादलों की लुकाछिपी का दौर

नरम पड़े सूरज के तेवर
नौतपा के पहले ही सूरज के तेवर नरम पड़ते नजर आ रहे हैं। चार-पांच दिन में प्री-मानसून गतिविधि भी बढऩे की संभावना जताई जा रही है। 25 मई से शुरू हो रहे नौतपा की तपिश भी कम हो जाएगी। मौसम विभाग के अनुसार उज्जैन, इंदौर, भोपाल और नर्मदापुरम संभाग में दो-तीन दिन में प्री-मानसून की बौछारें पडऩे की संभावना है।

हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात
मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अब तीखी धूप और लू के थपेड़ों का समय बीत चुका है। बुधवार से शुरू हो रहे नौतपा में भी बारिश की संभावना बन रही है। राजस्थान में हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात बन चुका है। वहीं एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान तक आ चुका है। इसका प्रभाव देश पर पडऩा शुरू हो गया है।
--
15 दिनों तक रहेगी रोहिणी, अच्छी वर्षा के योग बनेंगे
15 दिनों के लिए शुरू हो रही रोहणी में पडऩे वाली तीखी गर्मी के कारण अच्छी वर्षा के योग भी बनेंगे। ज्योतिष की नजर से देखें तो वृषभ राशि में सूर्य, बुध की युति रहेगी, साथ ही प्रीति योग के साथ बुधादित्य का योग बनने जा रहा है। 25 मई से आरंभ हो रहा नौतपा 2 जून तक रहेगा। ज्योतिषाचार्य पं. अमर डब्बावाला ने बताया नौतपा के 9 दिन 2 जून तक रहेंगे, हालांकि सूर्य का मृगशिरा नक्षत्र में प्रवेश 8 जून को होगा। इन्हीं 9 दिनों में वर्षा ऋतु का चक्र भी तैयार होता है।

रोहिणी का निवास समुद्र में
इस बार रोहिणी का निवास समुद्र में है, अतिवृष्टि, समुद्रे स्यात, श्रेष्ठ वृष्टि होने पर धान्य वर्धन होता है, इस बार समय का निवास मालाकार अर्थात माली के घर रहेगा। ऐसी मान्यता है कि माली के घर रहने से वर्षा अच्छी होती है और समय का वाहन भैंसा है, जो कहीं-कहीं कुछ स्थानों पर अतिवृष्टि करवाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Kaali Poster Controversy: कानाडा के म्यूजियम ने हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने पर मांगी माफी, नहीं दिखाई जाएगी फिल्म2024 के आम चुनाव से पहले आधार कार्ड से लिंक होगी मतदाता सूची, फार्म- 6बी भरकर करना होगा जमाDomestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेMp local body elecation: इंदौर में तोडफ़ोड़, भाजपा नेता ने वायरल कर दी ईवीएम की फोटोMumbai News Live Updates: मुंबई में बारिश बनी आफत, कई जगहों पर लगा ट्रैफिक जाम, जलभराव के बाद चार सबवे बंदराजस्थान में 13 अगस्त से होगी 25 हजार अग्निवीरों की भर्ती, जानिए किस जिले में कब होगी भर्ती रैलीLalu Prasad Yadav की तबीयत में नहीं हो रहा सुधार, आज एयर एंबुलेंस से लाए जाएंगे दिल्लीएक के बाद एक दर्ज हो रहे मुकदमों पर छलका आजम का दर्द, बोले सारे मुकदमे हम पर ही होंगे क्या?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.