ड्यूटी पर थे कर्मचारी, फिर भी मिल गया नोटिस

अस्पताल में गंदगी देख एसडीएम ने जताई नाराजगी

By: Mukesh Malavat

Published: 11 Jul 2019, 08:02 AM IST

नागदा. शासकीय चिकित्सालय में लापरवाही एवं अव्यवस्थाओं की लगातार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम आरपी वर्मा ने मंगलवार रात 10 बजे अस्पताल का औचक निरिक्षण किया। इस दौरान अस्पताल की सफाई व्यवस्था बिगड़ी हुई मिली, वहीं ड्यूटी से कई कर्मचारी नदारद मिलने के साथ ही जो ड्यूटी पर थे उनके नाम भी रजिस्ट्रर में दर्ज नहीं मिले।
नाराजगी व्यक्त करते हुए एसडीएम ने मेडिकल ऑफिसर डॉ. कमल सोलंकी मोबाइल पर संर्पक संपर्क तो उन्होंने पहली बार में कॉल अटेंड नहीं किया। हालांकि बाद में एसडीएम के निरीक्षण की सूचना मिलने के बाद में वह अस्पताल पहुंच गए। एक माह पूर्व ही पत्रिका ने शासकीय अस्पताल की अव्यवस्थाओं का मुद्दा प्रमुखता से उठाया था। पत्रिका ने यह भी जानकारी दी थी कि रात्रि के समय बाहरी लोगों द्वारा अस्पताल परिसर में बैठकर शराब का सेवन किया जाता है। इसी के मद्देनजर एसडीएम वर्मा ने अपने अधिनस्तों को लेकर गत रात्रि को औचक निरीक्षण किया तो अस्पताल में शराबखोरी की बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि एसडीएम के आने केे पूर्व कुछ लोगों द्वारा जिसमें अस्पताल के कर्मचारी भी शामिल थे। अस्पताल के एक कमरे में बैठकर शराब पी रहे थे। हालांकि शराब पी रहे लोगों को एसडीएम के आने सूचना मिल गई और वे अस्पताल के पिछले दरवाजे से भागने में सफल हो गए। औचक निरिक्षण के दौरान एसडीएम के साथ प्रभारी तहसीलदार अनिरु द्व मिश्रा, पटवारी अनिल शर्मा एवं रिडर महेंद्र अरोड़ा मौजूद थे।
सफाई का अभाव
निरीक्षण के दौरान एसडीएम उस समय मौजूद कर्मचारियों पर भडक़ गए जब उन्होंने अस्पताल की सफाई व्यवस्था को देखा पूरे अस्पताल मेंं गंदगी पसरी पड़ी थी। खास तौर पर महिला शौचालय की हालत काफी खराब थी। इसके अलावा वार्डों में भी सफाई का अभाव नजर आया, जिसको लेकर एसडीएम ने प्रभारी डॉ. सोलंकी को जिम्मेदार सफाईकर्मियों का वेतन काटने के निर्देश दिए है। अस्पताल की सफाई व्यवस्था दुरुस्त कराने के निर्देश दिए है।
निरीक्षण के दौरान ये मिले नदारद
एसडीएम ने ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों का उपस्थिति रजिस्ट्रर की जांच की तो कई चौकाने वाले तथ्य सामने आए। फॉर्मासिस्ट रमेश राजोरिया गत 4 जुलाई से अनुपस्थित पाया गया। वहीं राजेश परमार नामक कर्मचारी भी ड्यूटी से नदारद मिला। सहायक वर्ग कर्मचारी संदीप लोद ज्वाईनिंग करने के बाद से ही गत 6 माह से ड्यूटी पर नहीं आया। हैरानी तो तब हुई जब ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारियों की उपस्थिति भी रजिस्ट्रर में दर्ज नहीं थी। लापरवाही के लिए एसडीएम ने प्रभारी डॉ. कमल सोलंकी को नोटिस थमाकर जवाब मांगा है।

Show More
Mukesh Malavat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned