इस व्यक्ति ने कोर्ट में आग लगाने की धमकी दी, फिर ऐसा हुआ

उज्जैन में दो दिन पहले पत्नी के वारंट तामिल कराने लाई थी व्यक्ति को, पत्नी को कोर्ट से जबर्दस्ती ले जाने लगा और रोका तो मुंशी से अभद्रता की थी

उज्जैन. न्यायालय परिसर में सोमवार को कोर्ट मुंशी के साथ अभद्रता करते हुए कोर्ट में आग लगाने की धमकी देने वाले व्यक्ति की कोर्ट ने बुधवार को जमानत निरस्त कर दी। मीडिया सेल प्रभारी मुकेश कुन्हारे ने बताया कि १४ अक्टूबर को प्रधान आरक्षक रामलाल मकवाना देवासगेट के प्रकरण में आरोपी महिमा चौधरी को न्यायालय द्वारा जारी गिरफ्तारी वांरट के पालन में पेश करने लाया था। दोपहर २.१५ बजे के करीब महिला का पति अनुराग चौधरी न्यायालय में आया और बगैर अनुमति ले जाने लगा। जब उसे रोका तो उसने गालियां दी और कोर्ट में आग लगाने की धमकी भी दी थी। मामले में माधवनगर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया था। इस पर अनुराग चौधरी ने जमानत आवेदन पेश किया। इस पर अभियोजन अधिकारी ने विरोध करते हुये तर्क दिए कि प्रकरण में अभियुक्त ने शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाई है और गंभीर कृत्य है। इस पर न्यायाल प्रेमपाल सिंह ठाकुर मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी ने आरोपी को धारा 353, 186, 294, 506 भादवि में जमानत आवेदन निरस्त कर दिया।


उधारी के आठ लाख रुपए लौटा दिए फिर भी मांग रहा २५ प्रतिशत ब्याज
उज्जैन। महानंदा नगर निवासी सीमा पति नीतिन उपाध्याय ने छह वर्ष पहले अमरसिंह मार्ग निवासी गोपाल चिंचाणी पिता श्रीकृष्ण से ८ लाख रुपए उधार लिए थे। यह राशि चार वर्ष पूर्व भी लौटा दी। इसके बाद भी गोपाल चिंचाणी बकाए की बात कहकर रुपए मांग रहा है। पुलिस में दर्ज शिकायत में सीमा उपाध्याय ने बताया कि गोपाल चिंचाणी १५ से २५ फीसदी ब्याज लगाकर रुपए की मांग कर रहा है। वहीं रुपए नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दे रहा है। माधवनगर पुलिस ने आरोपी गोपाल के खिलाफ ३८६, ५०६ व मप्र ऋणियों का संरक्षण अधिकार अधिनियम की धारा ३-४ के तहत प्रकरण दर्ज किया है।


किशोर व किशोरी लापता
उज्जैन। एकता नगर स्थित मदरसे में छह महीने पहले आया एक १४ वर्षीय किशारे लापता हो गया। वह १३ अक्टूबर के बाद से ही गायब है। मोहम्मद शाकिर ने किशोर के अपहृत होने की रिपोर्ट चिमनगंजमंडी थाने में दर्ज करवाई। इसी तरह घट्यिा थाना क्षेत्र के ग्राम बकानिया से एक १४ वर्षीय किशोरी १५ अक्टूबर की शाम ६.३० बजे घर से शौच जाने का कहकर निकली थी। इसके बाद से वह नहीं लौटी। पिता फूलसिंह पिता मानसिंह बंजारा ने थाने पहुंचकर बेटी को बहलाफुसलाकर कहीं ले जाने की रिपोर्ट दर्ज करवाई है।

जितेंद्र सिंह चौहान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned