पाली के सगरा तालाब में सफाई अभियान

नगर के जल स्त्रोतों की बदलेगी काया

By: ayazuddin siddiqui

Published: 21 May 2019, 10:05 AM IST

उमरिया. आने वाले समय में जिले वासियों को जल संकट की विभीषिका से बचाने जिला प्रशासन ने जल संवर्धन व जल स्त्रोतों के जीर्णोद्धार की दिशा में सार्थक कदम उठाया है। जलस्त्रोतो के संरक्षण को लेकर जिले भर में अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान को श्रमदान से जोड़कर ग्रामीणों की मदद से तालाबों व नदियों का जीर्णोद्धार कराया जा रहा है। जिला प्रशासन जहां ग्रामीण अंचलो के जल स्त्रोतों के जीर्णोद्धार का कार्य प्रारंभ किया है वहीं संभागायुक्त शोभित जैन द्वारा चलाया जा रहा जल संरक्षण एवं संवर्धन अभियान जिला मुख्यालय के साथ ही जिले के अन्य नगरीय क्षेत्र में जोर पकड़ रहा है। आयुक्त शहडोल संभाग के निर्देशानुसार जिले के नगरीय क्षेत्रों में भी अब जल संरक्षण की कार्य योजना तैयार की गई है तथा उस पर अमल होना प्रारंभ हो गया है। जिले के पाली नगर पालिका अंतर्गत सगरा तालाब में मुख्य नगर पालिका अधिकारी आभा त्रिपाठी की देख रेख में शुरूआती दौर में सफाई का अभियान शुरू किया गया है। आगें तालाब जीर्णोद्धार हेतु तैयार कार्य योजना पर अमल किया जाएगा।
ग्रामीण क्षेत्रों के 52 तालाब चिन्हित
जिले में जल संरक्षण व संवर्धन को लेकर जिला प्रशासन ने ग्रामीण अंचल से अपने अभियान की शुरुआत की है। कलेक्टर स्वरोविश सोमवंशी के मार्गदर्शन में जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के 52 तालाबों के जीर्णोद्धार की कार्य योजना तैयार कर उसे अमले में लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। जल सहयोग से इस महत्वपूर्ण कार्य को अमली जामा पहनाया जा रहा है। इस कार्य में ग्रामीण भी श्रमदान करने से पीछे नहीं हट रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के जिन तालाबों के जीर्णोद्धार की कार्ययोजना बनाई गई है उनमें से 10 तालाबों में तालाब जीर्णोद्धार का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। जिसमें आकाशकोट जैसे पहाड़ी क्षेत्र के तालाबों को भी शामिल किया गया है।
इसके भी दिन फिरेंगे
उमरिया नगर की जीवन दायनी नदी मानी जाने वाली उमरार अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। सफाई व संरक्षण के अभाव में इसका अस्तित्व भी समाप्त होता जा रहा है। नदी के दोनो पाटो में अतिक्रणकारियों ने कब्जा जमा रखा है वहीं नगर का पूरा कूड़ा करकट इसी में डंप होता है। जिसके चलते यह पूरी तरह से अस्तित्वहीन होती जा रही है। जिसके संरक्षण को लेकर जल संरक्षण व संवर्धन अभियान के तहत जिला मुख्यालय की इस नदी को भी अभियान से जोड़ा गया है। जिसके तहत उमरार नदी का तकनीकी दल द्वारा निरीक्षण कर कार्य योजना तैयार की जा रही है। शीघ्र ही जन सहयोग से जीर्णोद्धार का कार्य प्रारंभ किया जाएगा।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned