तालाब का अस्तित्व खतरे में

तालाब का अस्तित्व खतरे में

ayazuddin siddiqui | Publish: May, 11 2019 09:30:00 AM (IST) Umaria, Umaria, Madhya Pradesh, India

काट दिया पेड़

उमरिया. जल संरक्षण व संवर्धन के साथ वृक्षारोपण को लेकर जिला प्रशासन तालाबों के जीर्णोद्धार के लिए अभियान चला रहा है वहीं मानपुर के प्राचीन तालाब की मेढ़ पर घर बनाने के लिए पेढ़ो का कत्लेआम किया जा रहा है। कुछ ऐसा ही मामला मानपुर विधानसभा क्षेत्र का आया है। जहां सार्वजनिक निस्तार के उपयोग में आने वाले वन तालाब में लगे विशालकाय आम का पेढ़ लगा हुआ था। बताया जा रहा है कि स्थानीय निवासी कमलेश द्वारा उस विशालकाय पेढ़ को कटवा दिया गया। प्राचीन तालाब में लगे आम के पेढ़ को इस तरह कटवाना क्षेत्रीय जनो में चर्चा का विषय बना हुआ है और सब की निगाहें शासन प्रशासन पर टिकी है कि मामले में प्रशासनिक अमला क्या कदम उठा रहा है। एक ओर देखा जाय तो शासन प्रशासन के द्वारा जगह जगह फलदार पेड़ लगवाए जा रहे है और जहां पहले से पेड़ लगे हैं उन्हें सुरक्षित किये जा रहे हैं दूसरी ओर अपने निजी स्वार्थ के लिए फलदार वृक्षों को धरासाई किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पेढ़ कटवाने के बाद उसकी लकड़ी को ईंट संचालकों को भ_े में लगाने के लिए बेंच भी दी गई है। बताया जा रहा है कि कमलेश द्वारा तलाब के मेढ़ पर ही मकान का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। जिससे मानपुर के इस प्राचीन वन तालाब का अस्तित्व खतरे में दिख रहा है। बताया जा रहा है कि इसके पूर्व भी इस तालाब को भाठने का प्रयास किया गया था। जिसे लेकर लोगों द्वारा शिकायत भी की गई थी। मामले में आज दिनांक तक किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई। स्थानीय लोगों की माने तो उक्त व्यक्ति द्वारा पूर्व में भी शासकीय जमीनों को खुर्द-बुर्द किया गया है। पेढ़ की कटाई के बाद लोगों में आक्रोश व्याप्त है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned