गांव-गांव तक पहुंची मतदाता जागरूकता अभियान की गूंज

लोकसभा निर्वाचन 2019

By: ayazuddin siddiqui

Published: 25 Apr 2019, 09:30 AM IST

उमरिया. लोक सभा आम निर्वाचन 2019 के दौरान मतदान का प्रतिशत बढाने के उददेश्य से कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी स्वरोचिस सोमवंशी के मार्गदर्शन में मतदाता जागरूकता अभियान का संचालन सघनता के साथ किया जा रहा है। अब मतदाता जागरूकता अभियान की गंूज गांव गांव में सुनाई देने लगी है। ये क्षेत्र चाहे नगरीय हो या ग्रामीण अंचल अथवा दूरस्थ पहाड़ी इलाके। मतदाता जागरूकता अभियान को गति देने हेतु जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा तैयार की गई कार्य योजना के तहत घर घर संपर्क कार्यक्रम , चलित वाहनों के माध्यमों से आडियो एवं वीडियो फिल्मों के द्वारा तथा दूरस्थ अंचलों में नुक्कड़ नाटक दलों द्वारा गीत संगीत, नाटक के माध्यम से 29 अप्रैल को होने वाले निर्वाचन में मतदाताओं को मतदान करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है। बड़ी संख्या में मतदाता नुक्कड़ नाटकों के द्वारा जहां मनोरंजन का लुत्फ उठा रहे है वहीं सामूहिक मतदाता शपथ लेकर मतदान करने का संकल्प भी ले रहे है। इस कार्य में युवाओं तथा महिलाओं का उत्साह देखते ही बनता है।
नुक्कड़ नाटकों के माध्यमो से मतदाताओ को भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मतदान दिवस के दिन चिन्हित वैकल्पिक पहचान पत्र जिसमें मतदाता ईपिक कार्ड अथवा 11 अन्य दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज का मतदान के लिये उपयोग कर सकेंगे। इनमें पासपोर्ट, ड्राईविंग लाईसेंस, केन्द्रीय कार्यालय, राज्य शासन, भारत सरकार का उपक्रम, सार्वजनिक कम्पनी द्वारा जारी फोटोयुक्त पहचान पत्र, बैंक, पोस्ट ऑफिस द्वारा जारी फोटोयुक्त पासबुक, पेन कार्ड, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्ट्रेशन कार्यालय के रजिस्ट्रार जनरल एवं जनगणना आयुक्त द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा रोजगार कार्ड, श्रम विभाग द्वारा जारी स्वास्थ्य कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज एवं सांसद, विधायक, राज्यसभा सदस्य को जारी आधिकारिक पहचान पत्र तथा आधार कार्ड सम्मिलित हैं।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned