वनराज के दीदार के लिए महीने भर का इंतजार

गर्मी की छुट्टियां मनाने पर्यटक पहुंच रहे बांधवगढ़

By: ayazuddin siddiqui

Published: 04 May 2019, 10:30 AM IST

उमरिया. ग्रीष्म कालीन अवकाश प्रारंभ होने के साथ ही बांधवगढ़ नेशनल पार्क में सैलानियों की आना-जाना भी शुरु हो गया है। पिछले दिनो सें पुरा पार्क सैलानियों से गुलजार है और पार्क की सभी जिप्सियां दोनो पालियों में सैलानियों को सफारी के लिए लेकर जा रही हैं। आलम यह है कि अगले एक माह तक कोई भी सफारी खाली नहीं है। दिन व दिन सैलानियों की भीड़ यहां जुटती ही जा रही है। पर्यटक गर्मी के इन दिनो में सफारी का पूरा आनंद उठा रहे हैं। छुट्टिया मे पहुंचे लोग जम कर मौज मस्ती के मूड मे है। पिछले दो दिनो से दोनो पाली मे सभी जिप्सियां पार्क के अंदर जा रही है और सभी जिप्सियो मे पर्यटको की संख्या भी लगभग फुल रहती है। एक जिप्सी मे कुल छ: पर्यटक अंदर जा सकते है और प्रतिदिन अंदर जाने वाली कुल एक सौ ग्यारह जिप्सियो मे 666 पर्यटक अंदर जा सकते है। पर्यटको का आना जाना अभी भी जारी है और ज्यादा पर्यटक आने के कारण कोर के अलावा बफर जोन मे भी जिप्सियां ज्यादा जा रही है।
बफर में बढ़े पर्यटक
बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व के कोर जोन मे पर्यटको के लिए जगह न होने के कारण दूर दराज से आने वाले पर्यटक अब बफर जोन मे भी घूम रहे है। खास बात ये है कि बफर जोन मे भी पर्यटको को बाघ देखने को मिल रहा है। राजस्थान के चुरू जिले से बांधवगढ़ आए अजय गोयल ने बताया कि उनके परिवार को मानपुर बफर जोन मे बाघ देखने को मिला। कई ऐसे पर्यटक भी रिसोर्ट मे ठहरे हुए है जिन्होने आनलाइन बुकिंग नही करवाई थी, और यहंा आने के बाद उन्हे टिकट नही मिला। अब वे लाइन मे लग कर टिकट पाने का प्रयास करते है लेकिन उन्हें भी मौका नही मिल पा रहा है और वे बफर मे सफारी करना चाहते है।
व्यंजनों का लुत्फ
बांधवगढ़ घूमने आए पर्यटको को पार्क के अंदर बाघ देखकर जितना आनंद मिल रहा है उस आनंद को रिसोर्टस मे और भी बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। अलग अलग रिसोर्टस मे अलग अलग ढंग से जश्र का माहौल बनाया गया है। कहीं आर्केस्ट्रा की व्यवस्था है तो कहीं बूम फायर के पास रात गुजारी जा रही है। अलग अलग तरह के व्यंजन पर्यटको को परोसे जा रहे है।
पर्यटकों से भरा पार्क
बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व 30 जून तक खुला रहेगा और यह पूरे दो महीने पार्क पर पर्यटको का अच्छा खासा दबाव भी रहने वाला है। गर्मी की छुट्टिया मे दूर दराज से भारी संख्या मे पर्यटक यहंा आते है यही कारण है कि दोनो टाईम मे कुल 111 जिप्सी पार्क के अंदर जा रही है। इसके अलावा एम पी टी की बसे भी अंदर भेजी जा रही है। गर्मी ज्यादा होने के कारण सुबह और शाम कई क्षेत्रों में बाघ देखने को मिल रहे है। कई पर्यटक तो ऐसे है जो साल मे कई बार यहां आते है और यहां फोटोग्राफी करते है।
निरतंर हो रही वृद्धि
बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व में हर साल पर्यटको की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसकी वजह यह है कि यहां आने वाले पर्यटको को बाघ देखने के मामले में निराश नही होना पड़ता है। लगभग हर पर्यटको को यहंा बाघ दिखाई दे जाता है। इसकी वजह यह है कि यहां बाघो का घनत्व ज्यादा है। बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व मे व्यस्क बाघो की संख्या 70 से ज्यादा है और छोटे बाघो को मिलाकर ये संख्या 100 से पार हो जाती है। बाघो के अलावा दूसरे जानवर भी यहां भारी संख्या मे है जिससे यहां आने वाले पर्यटको को निराश नही होना पड़ता। इन सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि बांधवगढ़ का जंगल इतना ज्यादा आकर्षक है कि एक बार यहंा आने वाला पर्यटक दोबाना यहां आने के लिए जरूर सोचता है।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned