किसानों के लिए बड़ी खबर - खरीफ फसल बुवाई के पहले कर ले यह काम, होगी बीमारियों से रक्षा

- खरीफ फसल की बुवाई एवं बीजों को बोने से पहले बीज शोधन करने की कृषकों को को दी गई सलाह

By: Narendra Awasthi

Published: 05 Jun 2020, 09:33 PM IST

उन्नाव. खरीफ फसल की बुवाई चल रही है। बीजों को बोने से पहले यदि बीज शोधन कर लिया जाए तो बीज से लगने वाले रोगों से छुटकारा मिल जाता है। बीज शोधन कार्य उसी प्रकार से होता है, जिस प्रकार नवजात शिशु को टीका लगाकर भंयकर बीमारियों से रक्षा की जाती है। उसी प्रकार बीज शोधन करने से बीज जनित रोगों से छुटकारा मिल जाता है और कम खर्च में अधिक लाभ की सम्भावना बढ़ जाती है। जिला कृषि रक्षा अधिकारी विकास शुक्ला ने यह जानकारी दी।

 

फसल को बचाने का उपाय

उन्होंने बताया कि बीज शोधन हेतु कार्बेडाजिम 50% WP 2 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज की दर से अथवा थीरम 75% WP 2.5 ग्राम मात्रा प्रति किलोग्राम बीज या ट्राईकोडरमा 2% WP 4 ग्राम प्रति 1 किलोग्राम बीज की दर से शोधन करे। भूमि शोधन हेतु ट्राईकोडरमा 2% WP 2.5 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर की दर से किया जाता है। भूमि शोधन द्वारा फसल में लगने वाले रोग जैसे-जड़ सड़न रोग, उकठा रोग आदि का नियंत्रण किया जा सकता है। इसके लिए ट्राईकोडरमा 2%WP 2.5 किलोग्राम मात्रा को 60-70 किलोग्राम गोबर की सड़ी खाद में मिलाकर एक सप्ताह तक छाये में रखे। साथ ही साथ रोजाना हाथों से मिलाते रहे। जरूरत पड़ने पर थोड़ा पानी छिड़क कर नम रख कर अंतिम जुताई के समय खेत में छिड़क कर पाटा लगा दे।

कोरोना वायरस
Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned