चालक रिफ्रेशर कोर्स का आयोजन, ओवरटेकिंग के बताए नियम, दिलाई गई शपथ

चालक रिफ्रेशर कोर्स का आयोजन, ओवरटेकिंग के बताए नियम, दिलाई गई शपथ

Nitin Srivastva | Publish: Mar, 14 2018 10:28:08 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

त्रिपाठी ने कहा कि आज लाखों आदमी सड़क दुर्घटनाओं में अपनी जान गवा रहे हैं...

उन्नाव. दुर्घटना का सारा दोष चालकों पर आ जाता है। जबकि काफी कुछ अन्य परिस्थितियों पर निर्भर करता है। क्या मोटर मालिक ने कभी सोचा कि उनका चालक लगातार कितने घंटे गाड़ी चलाता है। असम से अमृतसर की दूरी कितने दिनों में तय करता है। कितने समय वह गाड़ी चलाता है। उप संभागीय परिवहन कार्यालय में आयोजित चालक रिफ्रेशर कोर्स को संबोधित करते हुए उप संभागीय परिवहन अधिकारी अशोक कुमार त्रिपाठी ने उक्त विचार व्यक्त किए। उन्होंने रोडवेज के एआरएम को भी निशाने पर लिया और कहा दिल्ली से उतर रहे चालक को बिना किसी रुकावट के बनारस जाने को कह दिया जाता है। यह दुर्घटना को आमंत्रण नहीं तो और क्या है। तिवारी मौके पर मौजूद चालको से कहा कि आपको लगातार 8 घंटे से ज्यादा गाड़ी नहीं चलानी चाहिए।

 

जनपद में अब तक 850 दुर्घटनाएं

त्रिपाठी ने कहा कि आज लाखों आदमी सड़क दुर्घटनाओं में अपनी जान गवा रहे हैं और कई लाख घायल हो रहे हैं। इसमें गवर्नमेंट का काफी पैसा खर्च होता है। जिससे बहुत बड़ा प्रोजेक्ट, बहुत बड़ी अर्थव्यवस्था खड़ी किया जा सकता है। दुर्घटनाओं के कारण देश का नुकसान हो रहा है। दिनों दिन यह संख्या बढ़ती जा रही है। उप संभागीय परिवहन अधिकारी ने बताया कि जनपद में पिछले साल 850 मार्ग दुर्घटनाएं हुई थी। जबकि इस वर्ष यह संख्या 850 पार कर चुकी है। इस में अधिकांश घटनाओं में मोटरसाइकिल सवार शामिल है। उन्होंने मोटरसाइकिल चालकों से कहा कि हेलमेट को मजबूरी नहीं जरूरी समझिए और लगाइए। जिससे आपकी जिंदगी सुरक्षित रहेगी। सरकार दिनों दिन बढ़ रही दुर्घटनाओं की संख्या को कम करने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने इसके लिए ही चालक रिफ्रेशर कोर्स चलाया जा रहा है। उप संभागीय परिवहन अधिकारी प्रवर्तन अनिल कुमार त्रिपाठी ने रिफ्रेशर कोर्स मैं उपस्थित चालको को संबोधित करते हुए कहा कि दुर्घटनाओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए सरकार ने इस प्रकार के चालक रिफ्रेशर कोर्स चला रही है।

 

ओवरटेकिंग के बताए नियम, दिलाई गई शपथ

इस मौके पर उन्होंने ओवरटेकिंग के नियम बताएं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि दो गाड़ियों की बीच की दूरी तीन गाड़ियों की लंबाई के बराबर होनी चाहिए। जब तक सामने वाला चालक ओवरटेक करने का इशारा न करे, तब तक आपको अपनी लेन में चलते रहना चाहिए। यातायात के नियमों का पालन करें और सुरक्षित रहें। जिससे चालको पर लगने वाला दोषारोपण कम हो सके। खुद भी यातायात के नियमों का पालन करें और दूसरे को भी प्रेरित करें।इस मौके पर मौजूद चालकों को यातायात सुरक्षा संबंधी नियम के साथ नेक आदमी के लिए ध्यान देने योग्य बातें का पंपलेट बांटा गया। कार्यक्रम में एआरटीओ प्रवर्तन प्रथम मनोज वर्मा ने भी संबोधित किया। इस मौके पर एआरटीओ प्रवर्तन ओ पी राजपूत ने चालको के साथ मौके पर मौजूद सभी लोगों को यातायात के नियमों के पालन की शपथ दिलाई। चालक रिफ्रेशर कोर्स में पीटीओ हरिराम पांडे, अशोक वर्मा सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Ad Block is Banned