एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी पहुंच गये दलित के घर और फिर...

- दलित की भूमि पर पुलिस चौकी

- दलित परिवार द्वारा स्टे लाने पर आक्रोशित पुलिस पहुंच गई घर पर

By: Narendra Awasthi

Published: 01 Oct 2020, 09:59 PM IST

उन्नाव. माखी पुलिस दलित के घर में घुसकर महिलाओं के साथ अभद्रता की मारपीट की। घर पर रखे कागजात को नष्ट करने का प्रयास किया। दलित परिवार का कहना है कि पुलिस उनकी जमीन पर पुलिस चौकी बना रही थी। जिस पर कोर्ट का स्टे लाने के बाद पुलिस नाराज हो गई और एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी घर पर पहुंचकर अराजकता करने लगे। पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर उन्होंने हलका इंचार्ज व अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्यवाही करने की मांग की।

अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा

इस संबंध में अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार पांडे ने बताया कि माखी थाना पुलिस विवेचना के लिए गई थी। जहां उनके साथ हाथापाई व मारपीट हुई। जिसका अभियोग थाने में पंजीकृत कराया गया है। वहीं विपक्षी पार्टी के तरफ से मिली शिकायत पर अभियोग पंजीकृत कराया गया है। सीओ को जांच दी गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

माखी थाना क्षेत्र के मेथी टुकुर की घटना

माखी थाना क्षेत्र के मेथी टुकुर चकलवंशी निवासी पूजा पत्नी जितेंद्र ने बताया है कि बुधवार की देर शाम लगभग एक दर्जन पुलिस उनके घर पर आई और घर के दरवाजे तोड़ दिए। घर में घुस कर पुलिस ने अभद्रता और अश्लीलता की। उन्होंने महिलाओं के लिए गंदे गंदे शब्दों का इस्तेमाल किया। पुलिस बार-बार कह रही थी कि तुमने दीवानी का मुकदमा में सुधाकर सिंह यादव को पार्टी बना दिया है। हल्के में हमारी चलेगी। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पहुंचे पीड़ित परिवार और उनके समर्थकों ने माखी पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

 

 

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned