उत्तर प्रदेश बजट - पहली बार हुआ ऐसा बजट पेश - केशव प्रसाद मौर्य

- पहली बार 5 लाख करोड़ से अधिक का बजट किया गया

- शिक्षित बेरोजगार नौजवानों के लिए बजट में की गई है विशेष व्यवस्था

- इस बजट से उत्तर प्रदेश के सभी वर्गों का होगा संतुलित विकास

By: Narendra Awasthi

Published: 18 Feb 2020, 06:19 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा में आज पेश किए गए प्रदेश के चौथे बजट पर अपने विचार व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है यह बजट शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार देने के महत्वाकांक्षी बजट है। इस बजट से प्रदेश का संतुलित व समग्र विकास होगा। बजट में प्रदेश के सभी वर्गों का और सभी क्षेत्रों का ख्याल रखा गया है।

 

प्रदेश को 1 ट्रिलियन यूएस डॉलर इकोनामी बनाने का लक्ष्य

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री के द्वारा भारत की अर्थव्यवस्था को वर्ष 2024 तक 5 ट्रिलियन यूएस डॉलर इकोनांमी बनाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखा गया है। इसे संभव बनाने के लिए उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को कम से कम 1 ट्रिलियन यूएस डॉलर इकोनॉमी बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और इस लक्ष्य की प्राप्ति हेतु प्रदेश के आर्थिक विकास के साथ-साथ रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने तथा प्रदेश के तेजी से औद्योगीकरण के लिए प्रदेश सरकार सतत प्रयासरत है। प्रदेश को विभिन्न क्षेत्रों में निजी पूंजी निवेश के लिए आकर्षक गन्तव्य बनाने की दिशा में सरकार ने प्रयास किये है।

 

बजट से समाज का सर्वांगीण विकास

श्री मौर्य ने कहा कि इस बजट से समाज का सर्वांगीण विकास होगा। गुणवत्तापूर्ण अवस्थापना सुविधाओं का विकास, युवाओं की शिक्षा एवं कौशल संवर्धन तथा उनके लिए रोजगार और किसानों की खुशहाली तथा सुदृढ़ कानून व्यवस्था और एवं त्वरित न्याय इस बजट के मुख्य आयाम हैं।

केशव प्रसाद मौर्य की अपील

बजट पर अपनी राय व्यक्त करते हुए श्री मौर्य ने समाज के सभी लोगों से अपील की है कि आइए हम सभी संकीर्णताये त्याग कर हम सब राज्य का सन्तुलित व चहुंमुखी विकास करें और समाज तथा देश के विकास में सहभागी बने।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned