उन्नाव गैंगरेप - दुष्कर्म पीड़िता जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच किया आत्मदाह करने का प्रयास, मचा हड़कंप

उन्नाव गैंगरेप - दुष्कर्म पीड़िता जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच किया आत्मदाह करने का प्रयास, मचा हड़कंप
उन्नाव गैंगरेप - दुष्कर्म पीड़िता जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच किया आत्मदाह करने का प्रयास, मचा हड़कंप,,,उन्नाव गैंगरेप - दुष्कर्म पीड़िता जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच किया आत्मदाह करने का प्रयास, मचा हड़कंप,उन्नाव गैंगरेप - दुष्कर्म पीड़िता जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच किया आत्मदाह करने का प्रयास, मचा हड़कंप

Narendra Awasthi | Publish: Aug, 29 2019 07:01:35 PM (IST) Unnao, Unnao, Uttar Pradesh, India

- न्याय न मिलने से क्षुब्ध थी दुष्कर्म पीड़िता

- माखी थाना क्षेत्र की घटना

उन्नाव. माखी थाना एक बार फिर उस समय चर्चा में आ गया जब दुष्कर्म पीड़िता जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर आत्मदाह करने का प्रयास किया। विगत एक माह पूर्व हुई घटना के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी। जिसके बाद दुष्कर्म पीड़िता ने अपने आपको जिलाधिकारी कार्यालय आत्मदाह कर समाप्त करने का प्रयास किया। आत्मदाह की जानकारी जंगल में आग की तरह कलेक्ट्रेट परिसर में फैल गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने अपने कब्जे में लिया। जिलाधिकारी से मुलाकात करवाई और अपने साथ ले गई क्षेत्राधिकारी ने बताया कि एक की गिरफ्तारी हो चुकी है, शेष की गिरफ्तारी के प्रयास चल रहे हैं।

 

19 जुलाई की घटना

घटनाक्रम के अनुसार विगत 19 जुलाई को माखी थाना क्षेत्र के गांव निवासी महिला को गांव के ही जो लोग यह बोलकर ले गए तुम्हारे पिता का एक्सीडेंट हो गया है। एक्सीडेंट खबर सुन नवविवाहिता दोनों युवकों के साथ मोटरसाइकिल पर बैठ गई। उसे क्या पता था कि आज उसकी इज्जत तार-तार होने वाली है। पीड़िता ने बताया कि दोनों ने उसके साथ मुंह काला किया। इसी बीच इनका तीसरा साथी मौके पर पहुंच गया जिसने भी उसके साथ गंदा काम किया। चीख-पुकार सुनकर ग्रामीण दौड़े तो तीनों दुष्कर्मी मौके से भाग निकले। लेकिन अपने पीछे मोटरसाइकिल आधार कार्ड छोड़ गए। जिसके आधार पर लोगों को घटना में शामिल के विषय में जानकारी हुई। मौके पर खड़े लोगों ने घटनास्थल पर उपलब्ध साक्ष्य को पुलिस के हवाले किया।

 

क्षेत्राधिकारी सफीपुर ने बताया

इस संबंध में दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने थाना माखी में तहरीर दी। लेकिन पुलिस का रवैया ढुलमुल रहा। उसने कोई कार्रवाई नहीं की। जिससे आक्रोशित पीड़ित परिवार पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर अपनी आपबीती सुनाई। जहां पुलिस ने पीड़िता के मेडिकल परीक्षण कराने का निर्देश दिया। लेकिन पुलिस का ढुलमुल रवैया रहा। इसी बीच आज पीड़ित परिवार जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचकर आत्मदाह का प्रयास किया। इस संबंध में क्षेत्राधिकारी सफीपुर ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी है। एक को गिरफ्तार कर लिया गया है, दो की गिरफ्तारी बाकी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned