scriptBegger Woman at Assi Ghat Turned out to be Computer Math Graduate | अस्सी घाट पर भीख मांगने वाली यह महिला निकली कंप्यूटर मैथ ग्रेजुएट, बोलती है फर्राटेदार अंग्रेजी | Patrika News

अस्सी घाट पर भीख मांगने वाली यह महिला निकली कंप्यूटर मैथ ग्रेजुएट, बोलती है फर्राटेदार अंग्रेजी

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने वाली एक महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। यह महिला गंगा किनारे बैठे भीख मांगती है लेकिन इसे अंग्रेजी बोलना भी आता है। महिला कंप्यूटर मैथ से ग्रेजुएट है।

वाराणसी

Published: November 28, 2021 02:24:55 pm

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने वाली एक महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। यह महिला गंगा किनारे बैठे भीख मांगती है लेकिन इसे अंग्रेजी बोलना भी आता है। महिला कंप्यूटर मैथ से ग्रेजुएट है। उसकी अंग्रेजी सुनकर लोग उससे काफी प्रभावित हैं। लोग उसकी हालत और सच्चाई जानकर लोग दंग भी हैं। यह महिला बीते तीन सालों से गंगा घाट के किनारे भीख मांग रही है।
Begger Woman at Assi Ghat Turned out to be Computer Math Graduate
Begger Woman at Assi Ghat Turned out to be Computer Math Graduate
गंगा में कूदकर देनी चाही जान

महिला का नाम स्वाति (35) है। वह आंध्र प्रदेश के कडुपा जिले के तिरुपति बालाजी गांव की रहने वाली है। उसने बताया कि वह तीन साल पहले वह मरने के लिए काशी आई थी क्योंकि काशी में मरने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। उसके पति ने उसे छोड़ दिया था। बच्चे पैदा करने के दौरान उसके शरीर का एक हिस्सा लकवाग्रस्त हो गया था। उसे कहीं नौकरी भी नहीं मिली। लिहाजा जिंदगी से परेशान होकर उसने गंगा में कूदकर आत्महत्या करने का फैसला किया। इस दौरान गोपाल नामक व्यक्ति की उस पर नजर पड़ी, तो स्वाति ने उसे आपबीती बताई और मरने की इच्छा जाहिर की। लेकिन गोपाल ने उसे समझाया और फिर दोनों ने शादी कर ली। उनकी एक बच्ची भी हुई लेकिन बाद में वह भी गुजर गई।
सरकार से मिल जाए मदद तो मैं भी आत्मनिर्भर बन सकूंगी- स्वाती

स्वाति कंप्यूटर मैथ ग्रेजुएट है लेकिन वह नौकरी इसलिए नहीं कर सकतीं क्योंकि उनके पास व्हीलचेयर नहीं है। सीढ़ियों पर चढ़ने उतरने के लिए किसी की मदद की जरूरत होती है। ऐसे में वे खुद गंगा घाट किनारे छोटी सी दुकान लगाना चाहती हैं। उसने कहा कि अगर सरकार से उन्हें मदद मिल जाए तो मैं भी आत्मनिर्भर बन सकूंगी। स्वाति का पति गोपाल बहुत गरीब है, गंगा घाट किनारे गंगा आरती के बर्तनों को धोकर गुजारा करता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.