पत्रकार को धमकाना प्रियंका गांधी के निजी सचिव को पड़ा मंहगा, जानिये पुलिसवालों ने क्या किया

पत्रकार को धमकाना प्रियंका गांधी के निजी सचिव को पड़ा मंहगा, जानिये पुलिसवालों ने क्या किया
पत्रकार को धमकाना प्रियंका गांधी के निजी सचिव को पड़ा मंहगा, जानिये पुलिसवालों ने क्या किया

Ashish Kumar Shukla | Updated: 14 Aug 2019, 04:11:27 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

घोरावल पुलिस की ओर से थाना प्रभारी सीपी पांडेय ने मुकदमा दर्ज किये जाने के पुष्टि किया है

सोनभद्र. उम्भा गांव में जमीन विवाद में हुए नरसंहार के बाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने जहां मंगलवार को गांव के लोगों से मिलकर उन्हे हमेशा साथ खड़े होने के भरोसा दिया तो वहीं बुधवार को ही उनके एक करीबी पर संकट आ गया। पत्रकार से बदसलूकी मामले में प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह के खिलाफ घोरवाल थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया। घोरावल पुलिस की ओर से थाना प्रभारी सीपी पांडेय ने मुकदमा दर्ज किये जाने के पुष्टि किया है।

बतादें कि पिछले महीने में घोरावल थाना इलाके के उम्भा गांव में जमीन विवाद को लेकर 10 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था। सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए प्रियंका गांधी वहां पीड़ितों से मिलने की रणनीति बनाई। प्रशासन ने जिले में धारा 144 लागू होने का हवाला देते हुए प्रियंका को मिर्जापुर से ही हिरासत में ले लिया था। उन्हे रात भर चुनार गेस्ट हाउस में रखा गया था। हालांकि प्रियंका ने मृतक के परिजनों ने चुनार गेस्ट हाउस में मुलाकात कर उन्हे न्याय दिलाने का वादा किया था साथ ही जल्द उम्भा गांव आने का भी आश्वासन दिया था।

गांव की स्थिति सामान्य हो जाने के बाद प्रियंका 13 अगस्त यानि मंगलवार को दिल्ली से चलकर उम्भा गांव पहुंची और लोगों से मिलकर उनका हाल जाना। इसी बीच एक निजी चैनल के पत्रकार ने प्रियंका से धारा 370 पर सवाल दाग दिया। इस बात से प्रियंका के निजी सचिव नाराज हो गये उन्होने पत्रकार से बदसलूकी कर दिया।

मामले को लेकर विरोध हुआ। मंगलवार को ही निजी चैनल के पत्रकार ने संदीप के खिलाफ घोरावर थाने में तहरीर दिया। आखिरकार बुधवार को संदीप के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

कौन हैं संदीप सिंह

बतादें कि संदीप सिंह मूलरूप से प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं। इलाहाबाद विवि से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद वो जेएनयू, दिल्ली चले गए। यहां वो लेफ्ट के संगठन आइसा से जुड़े। स्पीच देने में माहिर संदीप सिंह ने 2007 मे जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष का चुनाव जीत लिया। कहा जाता है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में संदीप राहुल गांधी के भाषण भी लिखा करते थे। एक बार फिर पत्रकार से विवाद के बाद संदीप चर्चा में हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned