फ्लाईओवर हादसा: जेठ के बड़ा मंगल पर इस हनुमान मंदिर का चमत्कार, बचायी कई लोगों की जान

मंदिर के सामने का बीम नहीं गिरा, स्थानीय लोगों ने कहा हम मानते हैं प्रभु का चमत्कार

By: Devesh Singh

Published: 16 May 2018, 02:46 PM IST

वाराणसी. फ्लाईओवर हादसे की जांच शुरू हो गयी है। जांच रिपोर्ट के बाद ही सही कारणों की जानकारी मिल पायेगी। फ्लाईओवर हादसे के बाद एक हनुमान मंदिर चर्चा में आ गया है। जेठ के मंगल को हुए इस भयानक हादसे में 18 लोगों की जान जा चुकी है लेकिन एक संजोग या चमत्कार अब सबके सामने आया है जिसकी सोशल मीडिया पर जमकर चर्चा हो रही है। हादसे वाले स्थान पर एक हनुमान मंदिर है और मंदिर के सामने फ्लाईओवर का बीम नहीं गिरा है जबकि मंदिर का दायरा खत्म होने के बाद ही फ्लाईओवर में लगा बीम गिरने से ही यह हादसा हुआ है।
यह भी पढ़े:-CM योगी की फ्लाईओवर हादसे पर दूसरी बड़ी कार्रवाई, सेतु निगम के अधिकारी व ठेकेदार पर इन धाराओं में मुकदमा दर्ज



Chaukagaht Flyover Collapse
IMAGE CREDIT: Patrika

सड़क किनारे स्थित मंदिर बहुत छोटा है लेकिन स्थानीय लोगों की आस्था का केन्द्र है। घटना के दूसरे दिन जब स्थानीय लोगों से पूछा गया तो उनका कहना था कि यह प्रभु का चमत्कार ही है क्योंकि जिस जगह का बीम गिरा है वह मंदिर का छोटा परिसर खत्म होने के बाद लगा था जबकि हादसे के बाद जब यहां पर लोगों की भीड़ जमा हो गयी थी तो मंदिर के सामने वाला बीम भी हिल रहा था लेकिन वह नहीं गिरा। इससे समझ में आता है कि जेठ के मंगल में प्रभु श्रीहनुमान की शक्ति के चलते ही यह बीम नहीं गिरा। स्थानीय लोगों की बातों के बात मीडिया ने भी उस मंदिर की पड़ताल की तो देखा कि वहां पर एक शिव जी की प्रतिमा के साथ प्रभु श्रीराम भक्त हनुमान की भी प्रतिमा है। यह सभी को बता है कि हनुमान जी को भगवान शिव का ११ वां अवतार माना जाता है।
यह भी पढ़े:-फ्लाईओवर हादसा: मौत के बाद भी नहीं थमा वसूली का खेल, पोस्टमार्टम के नाम पर मांगे 300 रुपये

पुलिस भी कहती रही कि खाली करें यह जगह हिल रहा बीम
हादसे के बाद भी पुलिस मौके पर पहुंची थी। हनुमान मंदिर के सामने वाले बीम हो हिलता देख पुलिस ने वहां से लोगों को हटाना शुरू कर दिया। पुलिस बार-बार लोगों से कहती रही कि यह बीम भी हिल रहा है इसलिए यहां पर खड़ा होना बेहद खतरनाक है। इसी बात को स्थानीय लोग भी कहते हैं। उन्होंने कहा कि हिलने के बाद भी यह बीम नहीं गिरा। जबकि पहले वाला बीम जब गिरा था तो तेज आवाज हुई थी। एक साथ दो बीम गिर गये थे। सैकड़ों टन भारी बीम गिरने से वहां की जमीन भी कुछ सेकेंड के लिए हिल गयी थी इसके बाद भी हनुमान मंदिर के सामने वाला बीम नहीं गिरा। यदि यह भी बीम गिर जाता तो मरने वालों की संख्या बहुत बढ़ जाती है यह प्रभु हनुमान का ही चमत्कार है।
यह भी पढ़े:-शुरू हो गया मलमास, भूल कर न करें यह काम

जानिए क्या है जेठ के मंगल का धार्मिक महत्व
जेठ के मंगल का बड़ा धार्मिक महत्व है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन को बड़ा मंगल भी कहते हैं। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन जो भी मांगा जाता है उसे हनुमान जी पूरा करते हैं। दूसरे भाषा में कहा जाये तो हनुमान भक्तों के लिए बड़ा मंगल का दिन बेहद खास होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हनुमान जी का जन्म दीपावली के एक दिन पहले हुआ था जबकि बड़ा मंगल के दिन ही हनुमान जी को अमर होने का वरदान मिला था इसलिए यह दिन बेहद खास है। इसे संजोग कहा जाये या चमत्कार। बड़ा मंगल के दिन हनुमान मंदिर के सामने का बीम नहीं गिरा और कई लोगों की जान बच गयी।
यह भी पढ़़े:-कर्नाटक चुनाव परिणाम को लेकर बाबा रामदेव का बड़ा बयान, बीजेपी के साथ कांग्रेस में मची खलबली

Show More
Devesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned