script रविदास घाट पर नावों के लिए गेल का CNG स्टेशन शुरू, नाविकों को होगी सहूलियत | GAIL CNG station for boats started at Ravidas Ghat | Patrika News

रविदास घाट पर नावों के लिए गेल का CNG स्टेशन शुरू, नाविकों को होगी सहूलियत

locationवाराणसीPublished: Nov 26, 2023 05:29:45 pm

Submitted by:

SAIYED FAIZ

वाराणसी में भारतीय गैस प्राधिकार लिमिटेड (GAIL) ने अपना दूसरा मोबाइल फ्लोटिंग सीएनजी पंप सुरु कर दिया है। गंगा में शुरू हुआ यह सीएनजी पंप नाविकों को सुविधा प्रदान करेगा। इसके पहले नमो घाट पर भी गेल ने सीएनजी स्टेशन खोला था जो सफलतापूर्वक चल रहा है।

after_namo_ghat_now_floating_cng_pump_at_ravidas_ghat_1.jpg
नमो घाट के बाद अब रविदास घाट पर फ्लोटिंग सीएनजी पंप
वाराणसी। रविदास घाट पर पिछले कई दिनों से बन रहा गेल का सीएनजी स्टेशन बनकर तैयार हो गया, जिसके बाद रविवार से इसे शुरू कर दिया गया। अब गंगा में दौड़ने वाली सीएनजी नाव इस पंप से सीएनजी गैस भरवा सकती हैं। प्रधानमंत्री की प्रेरणा और पहल से गंगा में चलने वाली मोटर बोट्स के डीजल इंजन की जगह अब उसमें सीएनजी इंजन लगाए जा रहे हैं। ऐसे में गैस भरवाने के लिए अभी तक मोटर बोट्स को नमो घाट जाना होता था पर अब रविदास घाट पर भी यह सुविधा उपलब्ध हो गई है जिससे नाविकों को सहूलियत मिलेगी। स्टेशन का उद्घाटन पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा आवासन और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने किया।
गेल इंडिया ने खोला फ्लोटिंग गैस पंप

गेल इंडिया के स्थानीय मार्केटिंग मैनेजर प्रवीण गौतम ने बताया कि प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप काशी में गंगा में चलने वाली नावों में डीजल इंजन की जगह सीएनजी इंजन लगाया जा रहा है। ये सीएनजी इंजन गेल के नमो घाट स्थित पंप से अभी तक गैस भरवाती थीं। ऐसे में रविदास घाट की मोटर बोट को अक्सर दिक्कतों का समाना करना पड़ता था। ऐसे में गेल ने मोबाइल रिफ्यूलिंग सीएनजी पंप बनाया है।
रोजाना 50 नावों में भरेगा गैस

प्रवीण गौतम ने बताया कि यह फ्लोटिंग सीएनजी स्टेशन है। नाविकों को अब गैस भरने के लिए दूर नहीं जाना होगा। इससे प्रतिदिन 40 से 50 नावों को सीएनजी उपलब्ध कराई जा सकेगी।
बोले मंत्री

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा आवासन और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि पर्यावरणीय चुनौतियों और स्वच्छ अक्षय स्रोतों में बदलाव की तत्काल आवश्यकता से जूझ रहे विश्व में, वाराणसी में दूसरे फ्लोटिंग इंफ़्रास्ट्रक्चर का उद्घाटन व्यवहार्य अक्षय ऊर्जा समाधान की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इस फ्लोटिंग सीएनजी स्टेशन को स्थापित करने का निर्णय स्वच्छ ऊर्जा की दिशा में परिवर्तनकारी शक्ति में हमारे विश्वास का प्रमाण है।
17.5 करोड़ की लागत से बना फ्लोटिंग स्टेशन
गेल इंडिया के स्थानीय मार्केटिंग मैनेजर प्रवीण गौतम ने बताया कि उक्त दोनों स्टेशनों को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के नियंत्रणाधीन महारत्न पीएसयू गेल (इंडिया) लिमिटेड द्वारा विकसित किया गया है। वाराणसी के मुख्य घाटों के दोनों ओर नौकाओं के लिए फ्लोटिंग सीएनजी स्टेशन अब चालू हैं। गेल द्वारा फ्लोटिंग स्टेशनों को लगभग 17.5 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किया गया है।

ट्रेंडिंग वीडियो