बाहुबली मोख्तार को लगेगा झटका या मिलेगा माफिया डॉन का साथ

बाहुबली मोख्तार को लगेगा झटका या मिलेगा माफिया डॉन का साथ
mokhtar ansai and shahabuddin

माफिया डॉन शहाबुद्दीन को बिहार से बाहर करने की तैयारी में सरकार, याचिका दाखिल

वाराणसी.
जमानत रद होने के बाद जेल की चहारदीवारी के पीछे ढकेले गए राजद के बाहुबली नेता व माफिया डॉन मोहम्मद शहाबुद्दीन की मुश्किलें बढ़ने वाली है। माफिया डॉन को  बिहार से बाहर किसी जेल में स्थांतरित करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। इस खबर से मोख्तार खेमे में जबरदस्त हलचल है। सूत्रों की माने तो कौएद का सपा में विलय कराने में शहाबुद्दीन ने भी भूमिका निभायी थी। लालू प्रसाद यादव के जरिये मुलायम सिंह यादव पर रिश्तेदारी की दुहाई देते हुए दबाव डाला गया था।  रणनीति यह थी कि शहाबुदीन को यूपी की सीमा से सटे किसी इलाके से चुनाव मैदान में उतारा जाये। मोख्तार खेमे ने भी तैयारी शुरू कर दी थी कि बिहार सरकार ने बाहुबलियों के अरमानों पर पानी फेंक दिया। अब देखना दिलचस्प होगा कि कोर्ट शहाबुद्दीन को यूपी के जेल में भेजने का आदेश देती है या नहीं।

बिहार के माफिया डॉन शहाबुद्दीन और मोख्तार अंसारी की यारी किसी से छिपी नहीं है। जिस दिन शहाबुद्दीन जेल से जमानत पर बाहर आया था पूर्वांचल के बाहुबली दबंग विधायक मोख्तार अंसारी ने अपने समर्थकों से बधाई पहुचाई थी। बदले में माफिया शहाबुद्दीन ने मोख्तार को आगामी विस् चुनाव में हर संभव मदद का आश्वासन दिया था। 

बिहार के इस माफिया डॉन को बिहार से बाहर किसी जेल में भेजने की याचिका सुप्रीम कोर्ट में तेजाब हत्याकांड में अपना तीनों बेटे को खो चुके चंदा बाबू ने दायर की है। चंदा बाबू की ओर से सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने यह याचिका दायर की है। प्रशांत भूषण ने कोर्ट से याचिका पर जल्द सुनवाई करने का आग्रह किया है।

जानकारी के मुताबिक, वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण द्वारा दायर याचिका में ये दलील दी गई है कि मो. शहाबुद्दीन के सीवान जेल में रहने से मुकदमे की सुनवाई पर असर पड़ेगा। सीवान जेल में रहने से वो मुकदमों के गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं।आरोप है कि जेल में  शहाबुद्दीन काफी ऐशो-आराम के साथ रहते थे. जेल में ही उसका दरबार भी चलता था. इसका खुलासा सीवान जिला प्रशासन द्वारा जेल के औचक निरीक्षण के दौरान हुआ था. इसके बाद जेल में उनसे मिलने वालों पर नजर रखी जाने लगी । माफिया डॉन के वकील ने अन्यत्र जेल भेजने की याचिका के मामले में कोर्ट से शहाबुद्दीन को यूपी की किसी जेल में भेजने की गुहार लगायी है।

बिहार से बाहर किसी जेल में शहाबुद्दीन को स्थांतरित कर देने से उनके खिलाफ चल रहे मुकदमों की सुनवाई सही ढंग से हो सकेगी और मुकदमों पर कोई असर भी नहीं पड़ेगा। इस तरह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ट्रायल कराने की मांग की गई है।

बताते चलें कि सीवान जेल में पटना हाईकोर्ट से मो. शहाबुद्दीन को 7 सितंबर को जमानत मिलने के बाद 21 दिनों तक वो सीवान में रहे लेकिन सुप्रीम कोर्ट द्वारा जमानत को रद्द कर दिए जाने के बाद शहाबुद्दीन को फिर से सीवान जेल भेज दिया गया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned