बिना एक रूपये खर्च कर पढ़ाई करने वाले यहां के 50 से अधिक छात्र नेट जेआरएफ रिजल्ट में हीरो बन गये हैं

बिना एक रूपये खर्च कर पढ़ाई करने वाले यहां के 50 से अधिक छात्र नेट जेआरएफ रिजल्ट में हीरो बन गये हैं
बिना एक रूपये खर्च कर पढ़ाई करने वाले यहां के 50 से अधिक छात्र नेट जेआरएफ रिजल्ट में हीरो बन गये हैं

Ashish Kumar Shukla | Updated: 13 Jul 2019, 10:29:05 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

शिक्षक बेहतर हो फिर तो पत्थर को भी तरासा जा सकता है

वाराणसी. कहते हैं इस इस जमाने में पांच लोगों का पालन पोषण कर लेना आसान है पर एक को पढ़ा पाना बहुत ही मुश्किल है। मंहगे शिक्षा के इस दौर में लाखों रूपये खर्च करने के बाद भी कैरियर बना पाने की गारंटी शायद किसी के पास भी नहीं होती है। लेकिन इन सब से अलग बनारस के बीएचयू में मुफ्त में शिक्षा देने वाले एक सेंटर ने वो कर दिखाया जिसे सुनकर शायद एक बार भरोसा न हो। यहां मुफ्त में पढ़ाई करने वाले पचास से अधिक छात्रों ने उस समय सबको चौंका दिया जब शनिवार को नेट जीआरफ के परिणाम आये। जी हां यहा पढ़ने वाले छात्रों साबित कर दिया कि शिक्षा के लिए लगन और जज्बे की जरूरत होती है और अगर आपका शिक्षक बेहतर हो फिर तो पत्थर को भी तरासा जा सकता है।

बतादें कि बीएचयू कैम्पस के एसवीडीवी में नेट जेआरएफ के लिए आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को शोध छात्र राजा पाठक तैयारी कराते हैं। अपने बेहतरीन अनुभव से वो हर छात्र को परीक्षा में सफल कराने के लिए भरपूर मेहनत करते हैं। ताकि बच्चों का भविष्य उज्जवल हो सके। पेड़ के नीचे चार बच्चों को साथ लेकर मुफ्त शिक्षा की शुरूआत करने वाले राजा पाठक को मालूम नहीं था कि एक दिन उनकी ये मेहनत बच्चों की किस्मत बदल देगी। लेकिन अब परिणाम सामने है। पिछले कई सालों से यहां शिक्षा ले रहे सैकड़ों छात्रों ने सफलता हासिल कर अपनी अलग पहचान बना लिया है।

2019(जून) की नेट जेआरएफ परीक्षा में एकतरफा पचास से अधिक छात्रों ने बाजी मारकर बनारस के साथ ही अपने शिक्षक और शिक्षा के केन्द्र का नाम रोशन कर दिया है। बच्चों की इस बड़ी सफलता पर सभी के घर वाले और करीबी काफी उत्साहित हैं। राजा पाठक ने बताया कि अगले कोचिंग की बैच का ऑनलाइन फॉर्म जुलाई के अंतिम सप्ताह में आयेगा। जिसे जेआरएफ अचीवर्स की वेबसाइट पर जाकर भरा जा सकता है। अगले बैच की कक्षाएं सितंबर के पहले सप्ताह से चलेंगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned