पुलिस के लिए सिरदर्द बना एक लाख का इनामी बदमाश मुठभेड़ में मारा गया, 34 मुकदमों का था आरोपी

- एक लाख का आरोपी रोशन गुप्ता उर्फ किट्टू गिरफ्तार

- 34 मुकदमों का था आरोपी

- 9 साल पहले हत्या कर आया था सुर्खियों में

By: Karishma Lalwani

Published: 27 Nov 2020, 10:16 AM IST

वाराणसी. पुलिस के लिए सिरदर्द बना एक लाख का इनामी बदमाश रोशन गुप्ता उर्फ किट्टू मुठभेड़ में मारा गया। किट्टू को वाराणसी के सारनाथ क्षेत्र के सरैया डाट पुल के पास मारा गया। इस दौरान दो सिपाही भी घायल हो गए। पुलिस ने उसके पास से दो देसी पिस्टल, एके-47 के चार कारतूस, .30 व .32 बोर के असलहे के 14 कारतूस और एक बाइक बरामद किए हैं। काली टोपी पहनकर आपराधित घटनाओं को अंजाम देने के लिए चर्चित किट्टू पर 34 मुकदमे दर्ज थे।

क्राइम ब्रांच प्रभारी अश्वनी पांडेय को सूचना मिली थी कि सरैया डाट पुल के पास किट्टू और मनीष मौजूद हैं। दोनों किसी वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। सूचना के आधार पर एसएसपी अमित पाठक ने एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी के नेतृत्व में सीओ क्राइम अमरेश सिंह बघेल, क्राइम ब्रांच प्रभारी और इंस्पेक्टर जैतपुरा शशिभूषण राय की टीम गठित कर बदमाशों को गिरफ्तार करने के लिए भेजा। दोनों बदमाशों ने पुलिस को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी। इस मुठभेड़ में करीब 18 से 20 राउंड फायरिंग हुई जिसमें किट्टू के सिर में गोली लगी। इस बीच मनीष भाग निकला। किट्टू को मंडलीय अस्पताल ले जाया गया जहां उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

यूपी सरकार ने की दो लाख इनाम की घोषणा

किट्टू को मुठभेड़ में मार गिराने वाली पुलिस टीम के लिए प्रदेश सरकार ने दो लाख के इनाम की घोषणा की है। इसके साथ ही अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने एसएसपी अमित पाठक को बधाई देते हुए दुर्दांत अपराधियों के खिलाफ प्रभावी तरीके से कार्रवाई लगातार जारी रखने के लिए कहा है।

9 साल पहले हत्या कर आया था सुर्खियों में

वर्ष 2011 में दशाश्वमेध क्षेत्र के खालिसपुरा के गोपाल यादव की हत्या कर रोशन गुप्ता सुर्खियों में आया था। इसके बाद अपराधों का सिलसिला बढ़ता चला गया। 29 जुलाई, 2015 को मुठभेड़ में मारे गए रोहित सिंह उर्फ सनी के गिरोह का उसने दामन थाम लिया। इसके बाद शहर के ठेकेदारों, व्यापारियों और डॉक्टरों से किट्टू रंगदारी मांगने के लिए कुख्यात हो गया था। इस बीच किट्टू का नाम गाजीपुर में सराफा कारोबारियों की हत्या व लूट, हत्या के प्रयास और डकैती में लगातार सामने आता रहा। 2012 में वाराणसी के भोजूबीर में सुपारी लेकर बैंक कर्मी महेश जायसवाल की हत्या में किट्टू का नाम सामने आया। इस मामले में चंदौली का पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल भी आरोपी है।

मुन्ना बजरंगी की तरह बनने की थी चाह

20 मार्च, 2019 में किट्टू को रईस राकेश अग्रहरी की हत्या में गिरफ्तार किया गया था। तब किट्टू पर 50 हजार का इनाम घोषित था। इस दौरान जब उसे गिरफ्तार किया गया था तो उसने कहा था कि वह जयराम जगत के मुन्ना बजरंगी की तरह बन कर खुद को स्थापित करना चाहता है। पुलिस लाइन में जब उससे पूछा गया था कि वह काली टोपी पहन कर अपराध क्यों करता है तो उसका कहना था कि काला रंग महादेव का आशीर्वाद है। महादेव ही मेरी रक्षा करते हैं और वही हमें मुन्ना बजरंगी के जैसे बनाएंगे।

ये भी पढ़ें: कोयले से भरी मालगाड़ी में आग लगने से मची अफरा-तफरी

ये भी पढ़ें: वाराणसी के 22 हजार 723 घरों में जल जीवन मिशन के तहत लगेगा पेयजल नल, टेंडर प्रक्रिया पर खड़े हुए सवाल

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned