पार्क में शाखा लगाने से रोका तो RSS स्वयंसेवकों मचाया हंगामा, घर में घुस कर बुजुर्गों, महिलाओं से अभद्रता का आरोप

पार्क में शाखा लगाने से रोका तो RSS स्वयंसेवकों मचाया हंगामा, घर में घुस कर बुजुर्गों, महिलाओं से अभद्रता का आरोप

Ajay Chaturvedi | Publish: May, 18 2018 01:31:11 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

गिरिनगर एक्सटेंशन का मामला, राज्यमंत्री पर हंगामा करने वालों को शह देने का आरोप।

वाराणसी. सत्ता की हनक दिखा कर अब आरएसएस के लोग कालोनियों के पार्कों पर कब्जा जमाने लगे हैं। मना करने पर वो झगड़े पर आमादा हो जा रहे हैं। इतना ही नहीं घरों में घुस कर लोगों के साथ बदसलूकी कर रहे हैं और महिलाओं के साथ अभद्रता पर उतारू हो गए हैं। यह सब हो रहा है एक राज्यमंत्री की शह पर। इस पूरे मामले में स्थानीय पुलिस सब कुछ जानते हुए भी कुछ करने से बच रही है कारण राज्यमंत्री का दबाव बताया जा रहा है।

ममला सिगरा थाना क्षेत्र के गिरिनगर एक्सटेंशन का है। वहां कालोनीवासियों की सहमति से करीब चार साल पहले आरएसएस के लोगों ने कालोनी के पार्क में शाखा लगानी शुरू की। बात तय हुई थी कि वो सुबह छह से सात बजे तक एक घंटे तक शाखा लगाएंगे। लेकिन धीरे-धीरे यह समय बढ़ता गया। इन आरएसएस स्वयंसेवकों के चलते कालोनीवासी और खास तौर पर महिलाओं का पार्क में जाना बंद हो गया। इस पर महिलाओं ने कालोनी के पुरुषों से बात की और पार्क को अपने इस्तेमाल में लाने की मांग की। उन्होंने कहा कि हम लोग सुबह पार्क में जा कर व्यायायाम करना चाहते हैं। पार्क में टहलना चाहते हैं। इस पर कालोनी के पुरुषों ने शाखा लगाने वालों से बात की तो उन्होंने साफ इंकार कर दिया।

कालोनीनिवासी नरेंद्र सिंह ने पत्रिका को बताया कि हम लोगों ने आरएसएस स्वयंसेवकों से कहा कि अब तक आप लोग यहां शाखा लगाते थे, लेकिन अब मोहल्ले की महिलाएं एतराज कर रही हैं, उन्हें खुद के लिए पार्क चाहिए। उन्हें सलाह दी गई कि कुछ दूरी पर नगर निगम का पार्क है आप लोग वहां चले जाएं। इस पर शाखा लगाने वालों ने दो टूक जवाब दिया कि जिसे जहां जाना हो जाए हम तो यहीं शाखा लगाएंगे। इस पर दोनों पक्षों में कहासुनी भी हुई। लेकिन कालोनी के लोगों ने कहा कि आप नहीं मानेंगे तो हम लोग पार्क में कालोनी की कमेटी की ओर से ताला लगा देंगे। सिंह ने बताया कि इस पर आरएसएस के लोग सूबे के एक मंत्री के यहां चले गए और उन्होंने सिगरा थाने पर फोन कर दिया। आरोप यह भी है कि मंत्री ने आरएसएस स्वयंसेवकों से कहा कि वो लोग जहां शाखा लगाते हैं लगाएं। इसके बाद सिगरा थाने से फोन आया और हम लोगों को बुलाया गया। कालोनी के लोग वहां गए तो वहां एसीएम द्वितीय पहले से बैठे थे, उन्होंने कहा कि वो लोग शाखा लगा रहे हैं तो आप को क्या आपत्ति है, घंटे -दो घंटे की ही तो बात है। इस पर हम लोगों ने बताया कि वह पार्क कालोनी का है, कालोनी के लोगों ने उसे विकसित किया है। फिर हमारी महिलाएं पार्क में क्यों न जाएं। हम लोग पार्क शाखा लगाने के लिए नहीं देंगे।

इस घटना की जानकारी क्षेत्रीय विधायक सौरभ श्रीवास्तव को हुई तो वह कालोनी में आए, सारी जानकारी हासिल की फिर उन्होंने भी यह कहा कि यह तो गलत है कि कालोनी के पार्क में शाखा लगाने के लिए लोग थाने चले गए और आप लोगों को बुलवा लिया। इस मामले में राज्यमंत्री की भूमिका पर भी उन्होंने एतराज जताया। साथ ही कहा कि आप लोग मेरे कहने पर एक बार आपस में बैठक कर तय कर लें और उसकी जानकारी हमें दे दें। आप लोग नहीं चाहेंगे तो पार्क में शाखा नहीं लगेगी। इस पर पिछले रविवार को कालोनी के लोगों ने बैठक कर पार्क को शाखा के लिए न देने का प्रस्ताव पारित किया। इसकी एक प्रति क्षेत्रीय विधायक को दे दी गई। तय किया गया कि अब पार्क में कालोनी का ताला लगाया जाएगा और कालोनी के लोग ही उसे अपने उद्देश्य से खोलेंगे। इसी बीच 15 मई को फ्लाइओवर हादसा हो गया तो शहर की कानून व्यवस्था के मद्देनजर हम लोगों ने ताला नहीं लगाया कि पुलिस प्रशासन वैसे ही एक मामले में फंसी है नाहक उसे क्यों उलझाया जाए। लेकिन घटना के तीसरे दिन हमलोगों ने पार्क में अपना ताला लगा दिया।

उऩ्होंने बताया कि शुक्रवार की सुबह आरएसएस के लोग कालोनी में पहुंचे और पार्क में ताला लटकता देख भड़क गए। हंगामा करने लगे। विरोध करने पर गालीगलौज पर उतर आए। महिलाओं के साथ भी अभद्रता की। फिर पहले तो सड़क पर ही झंडा गाड़ कर शाखा लगाई, लाठियां पटकीं, हल्ला हंगामा किया। फिर पार्क में पहले उन्होंने अपना ताला लगाया फिर उसे खोला और कालोनी वालों के ताले को तोड़ दिया। इसका विरोध करने पर वे पड़ोस में रहने वाले रिटायर्ड एसडीएम के घर में जबरन घुस गए। बुजुर्ग आदमी से बदसलूकी की। इसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराया। पुलिस भी आरएसएस कार्यकर्ताओं के रवैये से क्षुब्ध थी। लेकिन कुछ कर पाने की स्थिति में नहीं थी। सिंह ने कहा कि हम लोगों आज के घटनाक्रम की वीडियो बना कर पुलिस को भी भेज दिया है। साथ ही दूसरे दलों के नेताओं को भी भेजा है। इसकी पुष्टि कांग्रेस नेता अनिल श्रीवास्तव ने भी की। अब मामला पुलिस प्रशासन के पाले में है। कालोनीवासियों का कहना है कि ये तो अजब हेकड़ई है कि कालोनी हमारी, पार्क हमारा और कब्जा आरएसएस का, जबकि उस शाखा में कालोनी का एक भी सदस्य नहीं जाता। दूर-दूर के लोग वहां आते हैं। ये कालोनी वाले अब कतई बर्दाश्त नहीं करने वाले।

Ad Block is Banned