जानिए कैसा होगा काशी में बनने वाला सांस्कृतिक केंद्र, यूपी सरकार ने बजट 2020 में की है घोषणा

- यूपी सरकार ने बजट 2020 में किया है180 करोड़ रुपये का प्रावधान

By: Ajay Chaturvedi

Published: 18 Feb 2020, 02:04 PM IST

वाराणसी. सांस्कृतिक राजधानी काशी को उसकी प्रसिद्धि के अनुरूप विश्व मानचित्र पर सिरमौर स्थान देने के लिए योगी सरकार कटिबद्ध है। संस्कृति के बहाने पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने और काशी में अधिक से अधिक पर्यटकों को रिझाने की योजना पर काम शुरू कर दिया गया है। इसी के तहत अब इस काशी में सांस्कृतिक केंद्र की स्थापना का मार्ग प्रशस्त हो गया है। यूपी सरकार ने बजट-2020 में बनारस में सांस्कृतिक केंद्र के लिए 180 करोड़ रुपये का प्रावधान कर दिया है।

वैसे इस सांस्कृतिक केंद्र की स्थापना के लिए दो साल पहले से ही कवायद चल रही थी। केंद्र की स्थापना कहां होगी और कितने परिक्षेत्र में होगा यह केंद्र यह सब लगभग पहले से ही तय था। बस इंतजार था तो राज्य सरकार की मंजूरी का।

इस संबंध में उप निदेशक पर्यटन अविनाश मिश्र ने पत्रिका से बातचीत में बताया कि सांस्कृतिक राजधानी काशी में सांस्कृतिक केंद्र की स्थापाना के लिए जगह की तलाश दो साल पहले ही कर ली गई है। पिंड्रा क्षेत्र में पर्यटन विभाग की 220 एकड़ भूमि पर इसका निर्माण होगा।

उन्होंने बताया कि अभी इसका कोई डीपीआर वगैरह तो नहीं बनाया गया है पर जो सोच है उसके तहत इस केंद्र में वैदिक काल से अब तक की सांस्कृतिक यात्रा का दर्शन मिलेगा। कब कैसे किस संस्कृति का जन्म हुआ, कैसे उसका विस्तार हुआ। क्या खास बातें थीं। इसके अंतर्गत साहित्य, कला, रहन-सहन, वेश-भूषा, बोली, परंपराएं, नृत्य-संगीत आदि सभी को दर्शाया जाएगा। हालांकि अभी सभी सोच के स्तर पर है अभी इसे मूर्त रूप लेना है। अब बजट में धनराशि का प्रावधान होने के बाद इस पर तेजी से काम शुरू होगा और जल्द ही प्रोजेक्ट सामने आएगा। इस पर संस्कृति, साहित्य, इतिहास सभी वर्ग के विद्वानों से विचार किया जाएगा।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned