दादरी कांड की बरसी पर सहमी यूपी पुलिस 

दादरी कांड की बरसी पर सहमी यूपी पुलिस 
varanasi police

वाराणसी, आजमगढ़ समेत पूर्वांचल और वेस्ट यूपी के संवेदनशील जिलों में विशेष सुरक्षा अभियान, दर्जनों संदिग्ध हिरासत में

वाराणसी. एक ओर पड़ोसी दुश्मन पाकिस्तान की सीमा से आए दहशतगदों ने देश की सुरक्षा एजेंसियों की चिंता बढ़ी रखी है तो दूसरी ओर दादरी कांड की बरसी पर आतंक मचाने की खुफिया खबर नेे उत्तर प्रदेश पुलिस की नींद उड़ा रखी है। 

खुफिया एजेंसियों ने उत्तर प्रदेश पुलिस को रिपोर्ट दी है कि बुधवार को दादरी कांड की बरसी पर दहशतगर्द यूपी की कचहरियों को निशाना बनाने की फिराक में हैं। केंद्रीय खुफिया एजेंसी के अधिकारियों को रिपोर्ट है कि दादरी कांड में मारे गए युवक अखलाक  की हत्या का बदला लेना चाहते हैं दहशतगर्द। 

सुरक्षा एजेंसियों की माने तो दक्षिण भारत के एक संदिग्ध गतिविधियों वाले संगठन के निशाने पर यूपी की कोर्ट-कचहरी है क्योंकि आतंकी अखलाक की हत्या व उनके परिजनों पर हुए मुकदमों से क्षुब्ध हैं।  उरी हमले के दौरान देश की सीमा में घुसे दहशतगर्दों के निशाने पर पहले से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी समेत अन्य प्रमुख शहर हैं। 

केंद्रीय खुफिया एजेंसियों की ओर से अलर्ट जारी होते ही बुधवार को उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस सक्रिय हो गई। आला अधिकारियों की निगाह पश्चिम यूपी के जिलों के साथ ही पूर्वांचल पर है। वाराणसी जोन के आईजी एसके भगत बुधवार सुबह लाव-लश्कर के साथ कचहरी परिसर पहुंचे। न्यायिक अधिकारियों से मुलाकात के साथ ही कोर्ट परिसर की सघन जांच कराई और कचहरी के सभी प्रवेश द्वार पर कड़ा पहरा बिठाया। वाराणसी की सुरक्षा-व्यवस्था जांचने के साथ ही आईजी ने आजमगढ़ समेत जोन के सभी पुलिस कप्तानों के साथ फोन पर वार्ता कर चेकिंग अभियान खास तौर पर कचहरियों की सुरक्षा तगड़ी करने के निर्देश दिए। 

मंगलवार देर रात इनपुट मिलने के बाद ही एसएसपी आकाश कुलहरि के आदेश पर वाराणसी पुलिस ने देर रात कचहरी के आसपास के इलाकों में छापेमारी कर बंगलादेशी व झारखंड के विभिन्न आदिवासी इलाकों से यहां आकर झुग्गी बनाकर रह रहे लोगों को पूछताछ के लिए उठाया। दरअसल दहशतगर्द इन्हीं झुग्गियों में शरण लेते हैं और कुछ रुपयों का लालच देकर दहशत का सामान इनके हाथों भिजवाते हैं। पुलिस उठाए गए संदिग्धों से अज्ञात स्थान पर  पूछताछ कर रही है। 

गौरतलब है कि आईबी को दहशतगर्दों के नापाक इरादों का पता समय रहते चल गया। आईबी ने मंगलवार रात ही उत्तर प्रदेश सरकार के साथ ही तमाम खुफिया व सुरक्षा एजेंसियों को बुधवार को सतर्क रहने का निर्देश दिया। सूत्रों के मुताबिक खुफिया एजेंसियों को इनपुट था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी दहशतगर्दों की सूची में नंबर एक पर है और बुधवार को आतंकी यहां विस्फोट करने की कोशिश कर सकते हैं। 

फिलहाल तो वाराणसी पुलिस ने सुरक्षा घेरा तगड़ा कर दिया है। एयरपोर्ट, रेलवे-बस स्टेशन से लेकर सार्वजनिक स्थानों, बाजार, घाट, मंदिरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आम जनमानस को भी अपने स्तर से सतर्क रहना चाहिए और यदि कहीं कोई संदिग्ध गतिविधि नजर आए तो तत्काल 100 नंबर या नजदीकी पुलिस स्टेशन पर इसकी सूचना दें। 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned