दस माह से घिसट रही थी, जिला अस्पताल में मुफ्त में हो गया कूल्हा प्रत्यारोपण

कलेक्टर ने मरीज के हाथों चिकित्सकों का कराया सम्मान

By: govind saxena

Published: 15 Jan 2021, 07:55 PM IST

विदिशा. कैसी हो अम्मा, कितने महीने से परेशान थीं, अब ठीक हो? किस डॉक्टर ने किया ऑपरेशन? इन डॉक्टर साहब को कुछ दिया या नहीं? अरे, ऐसे कैसे कुछ तो देना पड़ेगा। ये लो गुलदस्ता देकर डॉक्टर साहब को धन्यवाद बोल दो। जिला अस्पताल में 50 वर्षीय मजदूर महिला के कूल्हा प्रत्यारोपण के बाद कलेक्टर उसे देखने पहुंचे और अपने साथ लाए गुलदस्ते से महिला के हाथों ऑपरेशन करने वाले चिकित्सकों और नर्सों का सम्मान कराया। कम ही जिला चिकित्सालयों में हो पाने वाले इस ऑपरेशन और कूल्हा प्रत्यारोपण से खुश होकर कलेक्टर ने ऑपरेशन करने वाले चिकित्सकों की पीठ भी थपथपाई। खास बात यही भी रही कि मजदूर महिला के आयुष्मान कार्ड की वजह से करीब दो लाख रूपए की लागत वाला ये ऑपरेशन बिना किसी खर्च के हो गया।


पीडि़त 50 वर्षीय मालतीबाई बिलौरी की रहने वाली है। उसके पति तुलसीराम और पुत्र मजदूरी करते हैं, वह भी पहले मजदूरी करती थी। लेकिन फरवरी 2020 में गिर जाने से उसके कूल्हे में बहुत तकलीफ रही और चल नहीं पाई। घिसटते हुए दस महीने बीते, किसी तरह जिला चिकित्सालय में उपचार के लिए पहुंचीं। यहां के अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ धर्मेंद्र रघुवंशी और मेडिकल कॉलेज के डॉ अतुल वाष्र्णेय तथा डॉ संजय उपाध्याय ने उसका परीक्षण किया और पाया कि हड्डियों में फंगल इंफेक्शन हो चुका है और कूल्हे की हड्डियां बहुत ज्यादा धंस चुकी हैं। डॉ रघुवंशी ने सिविल सर्जन डॉ संजय खरे से ऑपरेशन को कहा, लेकिन खर्च बहुत था। लेकिन महिला के पास आयुष्मान कार्ड होने से काम आसान हो गया, लेकिन जिला चिकित्सालय में यह अपने तरह का पहला ऑपरेशन और कूल्हा प्रत्यारोपण था। 4 जनवरी को तीनों डॉक्टर्स ने मालतीबाई का करीब ढाई घंटे की मशक्कत के बाद सफल ऑपरेशन किया और कूल्हा प्रत्यारोपित कर दिया। पूरे दस दिन बाद उन्होंने वॉकर की सहायता से शुक्रवार को कलेक्टर के सामने महिला को चलाकर भी दिखाया। इससे खुश होकर कलेक्टर डॉ जैन ने भी ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर्स की टीम को बधाई दी और कहा कि जिला चिकित्सालय में ये काम आसान नहीं है, लेकिन चिकित्सकों ने कर दिखाया।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned