विधायक को नहीं मिला पत्रों का जबाव तो जा पहुंचे कंपनी कार्यालय

विधायक को नहीं मिला पत्रों का जबाव तो जा पहुंचे कंपनी कार्यालय

Bhupendra Malviya | Updated: 14 Jun 2019, 02:34:26 PM (IST) Vidisha, Vidisha, Madhya Pradesh, India

विद्युत कंपनी अधिकारियों के साथ की बैठक

विदिशा। विधायक शशांक भार्गव ने विद्युत वितरण कंपनी को पांच माह में 35 पत्र लिखे लेकिन किसी भी पत्र का जबाव नहीं मिलने पर गुरुवार को विधायक अहमदपुर स्थित कंपनी के महाप्रबंधक कार्यालय पहुंचे और अधिकारियों के साथ बैठक की। विधायक ने नाराजी जताई कि उन्होंने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र की विद्युत संबंधी समस्याओं पर लगातार पत्र लिखे लेकिन किसी भी पत्र का जबाव देना आप लोगों ने जरूरी नहीं समझा। वे अपने पत्रों की फाइल भी साथ लेकर पहुंचे थे और वहां इन पत्रों की संख्या भी गिनवाई।

 

मुझे नहीं दिया गया जबाब
विधायक शशांक भार्गव का कहना है कि जनवरी से अब तक 35 पत्र लिखे। इसमें हाईटेंशन लाइन से बस्तियों में समस्या, बस्तियों में झूंलते तारों की समस्या, बिजली खंभे लगाए जाने, ग्रामीण क्षेत्र में ट्रांसफार्मर आदि से संबंधित थी। विधायक ने कहा कि इन एक भी पत्र का जबाव मुझे नहीं दिया गया।


नाराजी व्यक्त की
वहीं अधिकारियों ने पत्रों का जबाव देने की बात कही तो उनका कहना रहा कि फिर मुझे तक पत्र क्यों नहीं पहुंचा। उन्होंने इस कार्य प्रणाली पर नाराजी व्यक्त की। क्यों जाती है बार-बार बिजली, खंभे क्यों नहीं लग पा रहे इस दौरान विधायक ने शहर में बार-बार बिजली जाने, मिर्जापुर में खंभे है पर केबल नहीं, सिंधी कॉलोनी में बीच में से 11 केबी लाइन है।

 

संतोषजनक जबाव नहीं दे पाए
खाई बस्ती सहित कई स्थानों पर बिजली केबल झूल रही। हाईटेंशन लाइन शिफ्टिंग नहीं हो पा रही, आमवाली कॉलोनी में खंभे नहीं है आदि समस्याओं पर अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि जिले में सौ करोड़ का बिजली कार्य हुआ लेकिन दिख नहीं रहा। उनके इन सवालों व समस्याओं का अधिकारी संतोषजनक जबाव नहीं दे पा रहे थे।

 

अक्टूबर तक करें सभी कार्य पूरे

विधायक ने कहा कि अक्टूबर तक यह सभी कार्य पूरे हो जाने चाहिए। कभी तार नहीं, कभी डीपी नहीं यह सब नहीं चलेगा। उन्होंने कंपनी के कार्यों की गुणवत्ता पर भी सवाल उठाए। उनका कहना रहा कि पिछली बरसात में कई स्थानों पर बिजली की लाइन व खंभे गिर गए थे। इन खंभों की गुणवत्ता ठीक नहीं थी।

 

इस पर कंपनी अधिकारियों ने कहा कि खंभे का कार्य करने वाली इस कंपनी को ब्लैक लिस्टेड किया गया है। बैठक में कंपनी महाप्रबंधक जोस के पुंजात, डीई अवधेश त्रिपाठी, सुरेंद्रकुमार गुप्ता, एई राजीवकुमार एवं सभी जेई मौजूद रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned