इस मंदिर में तेल नहीं पानी से जलता है दीपक, चमत्कार को देखने दूर-दूर से आते हैं लोग

ये मंदिर मध्य प्रदेश के शाजापुर मे स्थित काली सिंध नदी के तट पर बना हुआ है।

By: Vinay Saxena

Published: 14 Jul 2018, 05:14 PM IST

नई दिल्ली: देवी-देवताआें आैर मंदिरों से जुड़े चमत्कार तो आपने कई सुने होंगे, लेकिन क्या किसी दिए को तेल के बजाए पानी से जलता देखा है? जी हां, इस बात पर विश्वास करना मुश्किल है, लेकिन एक ऐसी भी जगह है जहां पानी से दिया जलता है। यह कोई कहानी नहीं है बल्कि हकीकत है। दूर-दूर से लोग इस चमत्कार को देखने के लिए आते हैं।

काली सिंध नदी के तट पर बना हुआ है मंदिर

एक मंदिर मे जलने वाला दिया जिसकी ज्योति पानी के द्वारा ही प्रज्वलित होती है। ये मंदिर मध्य प्रदेश के शाजापुर मे स्थित काली सिंध नदी के तट पर बना हुआ है। इस मंदिर के दिए मे घी या तेल नहीं बल्कि पानी डालकर भगवान के सामने दिया जलाया जाता है। मध्य प्रदेश का ये मंदिर गाडियाघाट वाली माता के मंदिर के नाम से जाना जाता है। मंदिर मे जलने वाली ज्योति पिछले 5 सालों से पानी के माध्यम से निरंतर जल रही है। जैसे ही दीपक मे पानी खत्म होने वाला होता है पुजारी कालीसिंध नदी का पानी दीपक मे डाल देता है। दीपक में पानी डालते ही वो काला चिपचिपा तरल पदार्थ बन जाता है और दीपक जल उठता है।

चमत्कार को देखने के लिए दूर-दूर से आते हैं लोग


कालीसिंध नदी के किनारे स्थित माता के इस मंदिर में होने वाले चमत्कार को देखकर किसी भी व्यक्ति का सिर अपने आप ही श्रद्धाभाव से झुक जाएगा। मंदिर में पूजा-अर्चना करने वाले पुजारी के अनुसार पहले मां के दरबार में हमेशा तेल का दीपक जला करता था। लेकिन बहुत समय पहले मंदिर के पुजारी को स्वप्न में पानी से दिया जलाने को कहां, तब से इस मंदिर में दिए को पानी से ही जलाया जाता है। माता के इसी चमत्कार को देखने के लिए आज लोग दूर-दूर से आते हैं और मां के चरणों में शीश नवाते हैं।

Show More
Vinay Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned