कुंभ मेला 2019 : साधुओं संग नदी में डुबकी लगाता है यह कुत्ता, यज्ञ में भाग लेने वाले इस कुत्ते को नागा बाबा भी मानते हैं सन्यासी

कुंभ मेला 2019 : साधुओं संग नदी में डुबकी लगाता है यह कुत्ता, यज्ञ में भाग लेने वाले इस कुत्ते को नागा बाबा भी मानते हैं सन्यासी

Arijita Sen | Publish: Feb, 09 2019 03:03:13 PM (IST) अजब गजब

ये पांचों नदी में डुबकी लगाते हैं, यज्ञ के समय उपस्थित रहते हैं और भंडारा का सेवन करते हैं।

नई दिल्ली। प्रयागराज में कुंभ मेला 15 जनवरी से शुरू हो चुका है जिसका समापन 4 मार्च को होगा। इस दौरान वहां लाखों लोग एकत्रित हुए हैं। साधु संतों की भी वहां भीड़ लगी हुई है। दूर दराज से आए इन महर्षियों की एक झलक पाने के लिए लोग उत्सुक रहते हैं। वाकई में इस समय प्रयागराज का नजारा बेहद ही अद्भूत है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Soyanki

यहां की एक और बात इंसान को अपनी ओर आकर्षित कर रही है और वह है साधु संतों के साथ आए उनके पालतू जानवर। इन जानवरों को देखकर बेहद अजीब लगता है क्योंकि इनके मालिक अकसर प्रभू की भक्ति में लीन रहते हैं जिस वजह से इनके व्यवहार में भी इस बात की झलक साफ तौर पर देखने को मिलती है। इसके साथ ही इनके खाने-पीने की आदत भी बाकी अन्य कुत्तों की अपेक्षा काफी भिन्न है।

 

कुंभ मेला 2019

एक ऐसे ही कुत्ते के बारे में हम आज आपको बताने जा रहे हैं जिसका नाम सोयांकी है। जूना अखाड़ा के नागा सन्यासी का पालतू है सोयांकी। इस कुत्ते के बारे में सबसे खास बात यह है कि यह हर वक्त अपने मालिक के साथ परछाई की तरह रहता है।

 

 

 

 

 

कुंभ मेला 2019

जहां भी सन्यासी केदार गिरि जाते हैं उनका पालतू सोयांकी भी उनके पीछे-पीछे चल देता है। यहां तक कि जब केदार गिरि नदी में स्नान करने के लिए जाते हैं तो सोयांकी भी उनके साथ जाकर नदी में डुबकी लगाता है।

 

 

कुंभ मेला 2019

सोयांकी को ड्राई फ्रूट्स खाना बेहद पसंद है और इसके साथ ही हलवा, मक्खन और दूध का सेवन भी उसे अच्छा लगता है, लेकिन अपने मालिक को देखकर अब उसे भी व्रत का पालन करने आ गया है। केदार गिरि के पास सोयांकी के अलावा भी और पांच विदेशी नस्ल के कुत्ते हैं जिन्हें उन्होंने एक साल पहले करीब 21,000 रुपये देकर इंदौर से खरीदा था।

 

कुंभ मेला 2019

इनका नाम है टाइगर, शेरू, जैकी, ध्रुव, रैंकी और सोयांकी। इनमें से सोयांकी उनके ज्यादा करीब है। केदार गिरि का ऐसा कहना है कि ये पांचों महज कुत्ते नहीं है बल्कि ये भी यहां आए साधुओं के जैसे ही हैं। ये पांचों नदी में डुबकी लगाते हैं, यज्ञ के समय उपस्थित रहते हैं और भंडारा का सेवन करते हैं।

 

 

 

कुंभ मेला 2019

संत केदा गिरि का ऐसा कहना है कि इस बार की ही तरह दूसरे शाही स्नान में भी ये पांचों उनके संग शामिल होंगे।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned