Ajab Gajab Kanoon: अजीबोगरीब कानून, कहीं मोटा होना, तो कहीं बल्ब बदलना है गुनाह

Ajab Gajab Kanoon: यह छोटी-छोटी गलतियां भी यहां के कानूनों में अपराध कहलाती हैं। जिनकी अवहेलना पड़ सकती है आपको बड़ी भारी।

By: Tanya Paliwal

Updated: 06 Oct 2021, 05:25 PM IST

नई दिल्ली। Ajab Gajab Kanoon: यूं तो हर देश का अपना एक कानून होता है। जो कि अपराधों को कम करने और अपराधियों को दंडित करने के लिए बेहद आवश्यक है। लेकिन कुछ स्थानों पर ऐसे अजीबोगरीब कानून हैं, जिनके बारे में सुनकर आपको बड़ा ही आश्चर्य होगा। तो चलिए जानते हैं उन स्थानों और वहां के विचित्र कानूनों के बारे में...

वैसे तो आजकल फिटनेस के प्रति बढ़ती जागरूकता के कारण सभी अपनी बॉडी को फिट रखने की कोशिश करते हैं। लेकिन यह बात पूरी तरह किसी व्यक्ति पर निर्भर करती है कि, उसकी जीवन शैली और शरीर कैसे होने चाहिए। लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस बात के लिए तो जापान में कानून ही लागू कर दिया गया है। यानी कि मोटा होना जापान में गैरकानूनी है। साल 2009 में लागू किए गए इस कानून के अनुसार, यहां पुरुषों व महिलाओं की कमर का अधिकतम आकार कितना होना चाहिए, यह बात निश्चित कर दी गई है। इस कानून के मुताबिक, 40 वर्ष से अधिक उम्र के पुरुषों की कमर 31 इंच और महिलाओं की कमर 35 इंच से ज्यादा होना गैरकानूनी माना जाता है।

japan_fat.jpg

सामान्य तौर पर हम सभी अपने घरों अथवा दफ्तर में किसी बल्ब के फ्यूज हो जाने पर खुद ही उसे हटाकर नया बल्ब लगा देते हैं। या किसी सहायक के कहकर यह काम करवा लेते हैं। परंतु ऑस्ट्रेलिया में आप स्वयं बल्ब नहीं बदल सकते। क्योंकि ऐसा करना ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया में गैरकानूनी है। वहां ऐसे काम किसी प्रशिक्षित इलेक्ट्रिशियन से ही करवाए जाने चाहिए। यानी ऐसा व्यक्ति जिसके पास इस काम को करने का लाइसेंस हो। अगर कोई इस कानून की अवहेलना करता है तो उस पर 10 ऑस्ट्रेलियन डॉलर तक जुर्माना हो सकता है।

bulb.jpg

यह भी पढ़ें:

आप में से कई लोगों के साथ कभी ना कभी ऐसा हुआ होगा कि कहीं जाते वक्त आपकी गाड़ी में पेट्रोल खत्म हो गया हो। और आश्चर्य वाली बात है कि जर्मनी में तो इसे भी गैरकानूनी बता दिया गया है। जी हां, अगर आप जर्मनी में हैं, तो आपकी गाड़ी में पेट्रोल कभी खत्म नहीं होना चाहिए। जर्मनी में पेट्रोल खत्म होने पर पैदल चलते हुए गाड़ी को खींचना गैरकानूनी माना गया है। क्योंकि इससे दूसरे गाड़ी चालकों का ध्यान भटकता है और दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है। और अगर ऐसा होता है तो, आप पर 65 पाउंड यानी कि लगभग ₹6000 का जुर्माना लगाया जा सकता है।

petrol_pump.jpg

कहा जाता है कि, मौत कभी कहकर नहीं आती। उसका कोई निश्चित समय या स्थान पर नहीं होता। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि, इंग्लैंड में मृत्यु से संबंधित एक बड़ा ही अजीबोगरीब कानून लागू कर दिया गया था। जिसके मुताबिक यहां संसद में किसी की मृत्यु नहीं हो सकती। जिसे वर्ष 2007 में यूके का सबसे बेतुका कानून करार दिया गया था। वहां के लोगों का कहना था कि इस कानून का कोई आधार ही नहीं है। और इसके अलावा इस कानून के बारे में कहीं लिखित व्याख्या नहीं है।

1200px-flag_of_the_united_kingdom.png
Show More
Tanya Paliwal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned