script Periods के अलावा लगने वाले दाग वैजाइनल इंफेक्शन का संकेत, गीलेपन से बचें | Vaginal yeast infection symptoms wet panty discharge yoni remedies | Patrika News

Periods के अलावा लगने वाले दाग वैजाइनल इंफेक्शन का संकेत, गीलेपन से बचें

locationजयपुरPublished: Feb 13, 2024 10:58:26 am

Submitted by:

Suman Agarwal

लड़कियों के प्राइवेट पार्ट यानी वैजाइना में कई बार इंफेक्शन हो जाता है लेकिन वे इसे छिपाती हैं या फिर खुद ही बहुत देर बाद समझती हैं। योनी संक्रमण के कारण, लक्षण और घरेलू उपायों के बारे में जानते हैं

untitled_design.png
Yoni Infection treatment
Private part infection: लड़कियों के प्राइवेट पार्ट यानी वैजाइना में कई बार इंफेक्शन हो जाता है लेकिन वे इसे छिपाती हैं या फिर खुद ही बहुत देर बाद समझती हैं। हालांकि आजकल लड़कियां कई तरह की वैजाइनल क्रीम या इंटिमेट वॉश इस्तेमाल करने लगी हैं लेकिन ये कितनी नुकसानदायक है इसके बारे में भी आज जानते हैं। योनि में यह इंफेक्शन (Yeast Infection) कैंडिडा एल्बिकांस नामक फंगस की वजह से होता है। योनि में पाया जाने वाला ये फंगस तेजी से वृद्धि करता है और योनि के टिश्यू को नुकसान पहुंचाता है, जिससे संक्रमण बढ़ने लगता है।
योनि संक्रमण (Vaginal infection) के कारण महिलाओं को खुजली, जलन और योनि में दर्द महसूस होना, पैंटी में कई तरह के दाग लगना,डिस्चार्ज से बदबू तक आती है, लेकिन कुछ घरेलू उपाय और अपनी सावधानियों से आप इससे निजात पा सकती हैं।
वैजाइनल इंफेक्शन के कई कारण होते हैं, इन लक्षणों से आप समझ सकती हैं कि आपको संक्रमण हुआ है।


योनि संक्रमण के लक्षण (yoni me infection ke Symptoms)

वैजाइना में खुजली, सूजन, जलन और लाल हो जाना
वैजाइना के बाहरी हिस्से में दर्द होना
पेशाब करते समय जलन महसूस होना
पेशाब करते समय दर्द होना
गाढ़ा, सफेद या भूरे रंग का वैजाइनल डिस्चार्ज होना
इंफेक्शन डिस्चार्ज में दुर्गंध आना
सेक्स के दौरान तेज दर्द होना
अगर ये लक्षण दिखते हैं तो आप इसे नजरअंदाज करने की गलती कभी ना करें

पीरियड्स वाले दाग नहीं

महिलाओं की पैंटी पर पीरियड्स के अलावा जो दाग नजर आते हैं, उसके बारे में ज्यादातर महिलाएं अवगत नहीं होती हैं। पैंटी पर दिखने वाले ये दाग कई बार बहुत ही खतरनाक बीमारी के संकेत हो सकते हैं। ये डिस्चार्ज के कारण लगते हैं।
गीलेपन से बढ़ता है इंफेक्शन

पीरियड्स के अलावा यूट्रस में से फ्लूइड डिस्चार्ज होता है, जिससे वैजाइना की अंदरूनी सतह गीली और गर्म रहती है। वैजाइना को अच्छी तरह से साफ रखना चाहिए, अगर वहां गीलापन होता है तो इंफेक्शन जल्दी होता है।
पैंटी धूप में सुखाएं

महिलाएं शर्म और हिचक के कारण पैंटी को कपड़ों के बीच छिपाकर सुखाती हैं, जिससे उन्हें धूप नहीं मिलती और बैक्टीरिया के संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है। बैक्टीरिया से बचने के लिए पैंटी को हमेशा धूप में सुखाएं।
रात को पैंटी बदलकर सोएं
रात को हमेशा पैंटी बगलकर सोएं, दिन भर यूज की गई पैंटी से इंफेक्शन का खतरा ज्यादा रहता है, ऐसे में कोशिश करें कि वैजाइना को साफ करके और सोने से पहले फ्रेश पैंटी पहनें।
घरेलू उपाय

योनि को साफ करने के लिए नॉर्मल या थोड़ा ठंडे पानी का इस्तेमाल करें। गर्म पानी का प्रयोग करने से बचें। इससे त्वचा में जलन हो सकती है। योनि को दिन में एक से अधिक बार न धोएं।
योनि को साफ करने के लिए ऐसे माइल्ड इंटिमेट वॉश का इस्तेमाल करें, जिसमें कोई हार्ड केमिकल या परफ्यूम न हो। साफ करते वक्त ज्यादा जोर न लगाएं। धीरे-धीरे पूरी जगह को साफ करें। कोशिश करें वॉश या किसी भी क्रीम का इस्तेमाल कम से कम करें, इससे पीएच लेवल एकदम गिर जाता है।
पानी के साथ योनि को साफ करें और धीरे से सुखाएं। अपनी योनि त्वचा पर किसी भी शक्त कपड़े से न रगड़ें। डॉक्टर द्वारा सुझाई गई क्रीम या ऑइंटमेंट का इस्तेमाल करें। ढीले कपड़े पहनें जिससे योनि को हवा मिलती रहे।

ट्रेंडिंग वीडियो