script8 chinese fighter jets cross Taiwan border amid tension | तनाव के बीच 8 चाइनीज़ फाइटर जेट्स ने पार की ताइवान की बॉर्डर, सेना हुई अलर्ट | Patrika News

तनाव के बीच 8 चाइनीज़ फाइटर जेट्स ने पार की ताइवान की बॉर्डर, सेना हुई अलर्ट

locationनई दिल्लीPublished: Dec 24, 2023 04:44:48 pm

Submitted by:

Tanay Mishra

China-Taiwan Tension: चीन और ताइवान के बीच सालों से चल रहा विवाद जगजाहिर है। पिछले एक साल में दोनों देशों के बीच टेंशन और बढ़ी है। इसी बीच चीन ने हाल ही में कुछ ऐसा किया है जिससे ताइवान की सेना अलर्ट हो गई है।

chinese_fighter_jets_cross_taiwan_border.jpg
Chinese fighter jets cross Taiwan border

चीन (China) और ताइवान (Taiwan) के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है और यह किसी से छिपा भी नहीं है। लंबे समय से चल रहे विवाद की वजह से दोनों देशों के बीच टेंशन भी रही है और पिछले एक साल में यह टेंशन और भी बढ़ी है। पिछले एक साल में चीन ने कई बार ताइवान बॉर्डर के पास सैन्याभ्यास किया है और ताइवान के एयरस्पेस के साथ ही सीस्पेस में घुसपैठ भी की है। ताइवान को अमेरिका (United States Of America) ने खुले तौर पर समर्थन दिया हुआ है। इन वजहों से भी दोनों देशों में टेंशन बढ़ी है। ताइवान में अगले साल 13 जनवरी को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने वाले हैं और चीन इसके विरोध में है। इस वजह से दोनों देशों के बीच टेंशन और भी बढ़ी है। इसी बीच चीन ने फिर कुछ ऐसा किया जिससे ताइवान के साथ उसकी टेंशन और बढ़ेगी।


8 चाइनीज़ फाइटर जेट्स ने पार की ताइवान की बॉर्डर

ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने आज जानकारी देते हुए बताया कि पिछले 24 घंटों में चीन के 8 फाइटर जेट्स ने ताइवान की बॉर्डर पार करते हुए ताइवान के एयरस्पेस में प्रवेश किया।

पहला मौका नहीं

पिछले 24 घंटों में चीन के 8 फाइटर जेट्स का ताइवान की बॉर्डर पार करना पहला मौका नहीं है जब चीन ने ऐसा किया है। चीन पहले कई बार ऐसा कर चुका है और पिछले एक साल में तो चीन के कई मौकों पर ऐसी हरकत की है।

ताइवान की सेना हुई अलर्ट

चीन के इस कदम से ताइवान की सेना भी अलर्ट हो गई है।

taiwanese_army.jpg


क्या है चीन और ताइवान के बीच विवाद की वजह?

दरअसल चीन और ताइवान 1949 में एक-दूसरे से अलग हो गए थे। तभी से ताइवान अपना स्वतंत्र अस्तित्व मानता है और खुद को एक स्वतंत्र देश बताता है। दूसरे कई देश भी ताइवान को एक स्वतंत्र देश मानते हैं। वहीं चीन इसका विरोध करता है और ताइवान को अपना हिस्सा मानता है। दोनों देशों के बीच विवाद की यही वजह है।

यह भी पढ़ें

चिली में 10 मिनट के भीतर ही 2 भूकंपों ने दहलाया, रिक्टर स्केल पर रही 5.9 और 5.1 की तीव्रता

ट्रेंडिंग वीडियो